भोपाल
राजधानी के कोहेफिजा इलाके में आठवीं क्लास में पढ़ने वाली 13 साल की मासूम की बुआ और उसके बॉयफेंड ने दोस्त से मिलाने का झांसा देकर उसे मनुआभान टेकरी ले गए। जहां युवक ने छात्रा के साथ ज्यादती की और सिर पत्थर से कुचलकर उसे मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने बुआ और उसके बॉयफेंड को हिरासत में ले लिया है। जिससे पुलिस पूछताछ करने में लगी हुई है। मौके पर हुए रिक्रिएशन के बाद हत्याकांड का खुलासा हुआ है। पुलिस के अनुसार 13 वर्षीय छात्रा लांबाखेड़ा में रहती है और हॉलीक्रॉस स्कूल में कक्षा आठवीं की छात्रा है। उसी स्कूल में मृतका की चचेरी बुआ भी कक्षा आठवीं की छात्रा है। 

चचेरी बुआ करोंद में कोचिंग पढ़ने जाती है। कल चचेरी बुआ दोपहर 3:30 बजे अपने साथ उसे भी लेकर घर से निकली थी। इसके बाद करोंद निवासी युवक जस्टिन और अविनाश साहू के साथ बाइक से मनुआभान की टेकरी पर पहुंचे। शाम सात बजे मृतका की बुआ घर पहुंची और परिजनों को बताया कि बच्ची नहीं मिल रही। इसके बाद परिजनों ने कोहेफिजा थाने में सूचना दी और टेकरी पर छात्रा की तलाश करने लगे। आज सुबह छह बजे टेकरी में एक गुफा के अंदर छात्रा की बिना कपड़े के खून से लथपथ लाश मिली है। दरिंदों ने रेप के बाद बड़े-बड़े पत्थरों से सिर कुचलकर उसकी हत्या की है। पुलिस ने मामला रिक्रिएशन किया तो हत्याकांड का खुलासा हो गया। 

जांच में सामने आया कि बुआ अपने बायफे्रंड अविनाश साहू के साथ छात्रा के दोस्त जस्टिन से मिलाने के लिए मनुआभन की टेकरी पर ले गई थी। जहां बुआ और उसके बॉयफे्रड से कुछ नोंक-झोंक हो गई थी। इसके बाद अविनाश साहू उसे लेकर गुफा के पास चला गया, जहां पहले उसने छात्र का हाथ पकड़ा। जब छात्रा ने उसका हाथ झटक दिया तो उसने जबरदस्ती रेप किया और पत्थर से सिर कुचलकर उसकी हत्या कर दी।

मृतका के चाचा ने बताया कि मनुआभन टेकरी वाले मोड़ पर हैमिल्टन कोर्ट नाम की कॉलोनी के गेट में लगे सीसीटीवी कैमरे में शाम चार बजे जस्टिन, अविनाश साहू और दोनों लड़किया जाते हुए दिख रहे हैं। शाम 6:10 बजे दो बाइक में वापस आते दिखे हैं, लेकिन मृतका उनके साथ नहीं दिखी। परिजनों का आरोप है इसी अवधि में जस्टिन और अविनाश ने छात्रा के साथ दुष्कर्म कर हत्या की होगी। इस मामले में मृतका की बुआ की भूमिका भी संदिग्ध लग रही है।

मृतका के चाचा ने बताया कि रात हम लोग टेकरी पर छात्रा की तलाश कर रहे थे, तभी जस्टिन भी उसे तलाशने आ गया। जस्टिन तीन बार बयान बदला तो शक होने पर उसे रस्सी से बांधकर पुलिस को सौंप दिया। परिजन रात भर टेकरी में तलाश करते रहे, लेकिन पुलिस एक बार गई और वापस लौट आई। परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने तलाशने में कोई मदद नहीं की।

जस्टिन को हिरासत में लेने की सूचना के बाद देर रात उसके परिजन एक अधिवक्ता को लेकर थाने पहुंचे। परिजनों ने छात्रा के परिजनों को आरोप लगाने पर जान से मारने की भी धमकी दी है।

अविनाश साहू होलीक्रॉस स्कूल से 12वीं पास है, वह मृतका की बुआ का सीनियर और दोस्त है। जस्टिन भी अनिवाश का दोस्त है। दोनों की उम्र 20-21 साल है। आरोपियों ने दोनों छात्राओं को करोंद से स्कूटी और बाइक से लेकर घटना स्थल पहुंचे थे। पुलिस तीनों के मोबाइल की कॉल डिटेल भी खंगाल रही है।

साध्वी प्रज्ञा का ट्वीट 
साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने इस दर्दनाक घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। और कहा है कि इस घटना का बदला हम लेंगे।  उन्होंने ट्वीट के माध्यम से कहा है कि कल शाम कोचिंग पढ़ने निकली भोपाल की बेटी के साथ हुई घटना से स्तब्ध हूं। प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहाल है, कमलनाथ केवल छिंदवाड़ा के मुख्यमंत्री बन कर रहे गये हैं। तेरा बदला हम लेंगी बेटी।

Source : Agency