लाहौर
 मुंबई आतंकी हमले के सरगना एवं प्रतिबंधित जमात-उद-दावा के नेता हाफिज सईद के एक निकट संबंधी हाफिज अब्दुर रहमान मक्की को घृणा फैलाने वाला बयान देने और पाकिस्तान सरकार की आलोचना करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है।
 
पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी। जमात की राजनीतिक और अंतरराष्ट्रीय मामलों की शाखा के प्रमुख और इसकी चैरिटी संस्था फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) के प्रमारी मक्की को इस प्रतिबंधित संगठन के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के तहत गिरफ्तार किया गया। पंजाब पुलिस की प्रवक्ता नाबीला गज़नफर ने इस गिरफ्तारी की पुष्टि की पर यह नहीं बताया कि उसे किन आरोपों के चलते गिरफ्तार किया गया। 

सूत्रों के अनुसार मक्की को लाहौर से करीब 80 किलोमीटर दूर गुजरांवाला कस्बे में घृणा भरे भाषण देने के मामले में गिरफ्तार किया गया। सूत्रों ने बताया कि मक्की की गिरफ्तारी को वित्तीय कार्रवाई टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की आवश्यकताओं की पूर्ति के रूप में सरकार के कदम के संबंध में देना जाना चाहिये। अमेरिकी वित्त विभाग सईद को वैश्चिक आतंकवादी घोषित कर चुका है और अमेरिका उसके बारे में सूचना देने वाले को एक करोड़ डॉलर का इनाम देने का ऐलान कर चुका है ताकि उसे न्याय के अधीन लाया जा सके। सईद बहुत कम लोगों से मिलता जुलता है और वह लाहौर में कड़ी सुरक्षा के बीच रहता है। बीते दो दशकों में ऐसा पहली बार हुआ जब मार्च महीने की शुरूआत में सईद को जमात के मुख्यालय में प्रवेश करने और साप्ताहिक धार्मिक प्रवचन से रोक दिया गया था। 

जमात के अनुषंगी संगठन एफआईएफ का नेतृत्व पहले ही भूमिगत हो चुका है। इसकी वजह यह है कि पाकिस्तान सरकार जमात की तरह एफआईएफ पर मार्च महीने में प्रतिबंध लगा चुका है। जमात के बारे में कहा जाता है कि यह लश्कर-ए-तैयब का मुखौटा संगठन है। यह संगठन मुंबई हमले का जिम्मेदार है जिसमें 166 लोगों की मौत हो गई थीं।

Source : Agency