मुंबई
बड़े पर्दे पर करिश्मा कपूर को देखे सात साल बीत चुके हैं। आखिरी बार उन्हें साल 2012 में आई फिल्म डेंजरस इश्क में देखा गया था और तब से उनके चाहने वाले बड़े पर्दे पर उनकी वापसी का इंतजार कर रहे हैं। इस बीच करिश्मा के पास कई सारे ऑफर्स आए, लेकिन वापसी के लिए करिश्मा ने आल्ट बालाजी के मेंटलहुड को चुना। डिजिटल प्लेटफॉर्म पर यह करिश्मा का पहला प्रोजेक्ट है। करिश्मा ने कहा कि यह पूरा शो मातृत्व पर आधारित है। 

एक मां होने के तमाम उतार-चढ़ाव और भावनाओं को इसमें दिखाया जाएगा। करिश्मा इसमें मीरा शर्मा के किरदार को निभा रही हैं जो एक स्मॉल टाउन मदर है और मुंबई जैसे शहर में तमाम उतार-चढ़ावों का सामना कर अपना सफर तय करती है। जब आईएएनएस से टेलीफोन में हुई बातचीत के दौरान उनसे यह पूछा गया कि इतने दिनों बाद कैमरे के सामने फिर से लंबे समय तक काम करने में क्या उन्हें घबराहट हुई? 

करिश्मा ने एक्टिंग की तुलना स्विमिंग और साइक्लिंग से करते हुए कहा कि यह मुझमें अंतर्निहित है। यह कुछ ऐसा है जो मेरे अंदर से कभी नहीं जा सकता है। मैं एक रोचक विषयवस्तु के इंतजार में थी। मैंने फिल्में नहीं की क्योंकि ये मेरा निर्णय था, मेरे बच्चे काफी छोटे थे। मैं घर पर रहकर अपनी फैमिली और बच्चों के साथ वक्त गुजारना चाहती थी।

Source : Agency