भोपाल 
लोकसभा चुनाव में प्रदेश में हुई अब तक की सबसे बड़ी हार के बाद दिल्ली में हो रही कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की महत्वपूर्ण बैठक में मुख्यमंत्री कमलनाथ शामिल नहीं हुए। वे भोपाल में ही है। जबकि इस बैठक में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत शामिल हैं, यहां पर भी कांग्रेस की जबरदस्त हार हुई है। 

बताया जाता है कि आज दिल्ली में हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक में प्रदेश से ज्योतिरादित्य सिंधिया और अरुण यादव शामिल हुए। इस बैठक में राज्य के मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ को भी शामिल किया जाता है। जिन प्रदेशों में मुख्यमंत्री नहीं हैं, उन राज्यों के नेताप्रतिपक्ष या सदन में पार्टी के नेता को इसमें शामिल होते हैं। इसलिए ऐसा मान जा रहा था कि कमलनाथ इस बैठक में शामिल होंगे, लेकिन वे आज दिल्ली नहीं गए। उनके दिल्ली न जाने और सीडब्ल्यूसी की इतनी महत्वपूर्ण बैठक में शामिल नहीं होने को लेकर राजनीतिक अटकल तेज हो गई है। इस कमेटी में प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव और ज्योतिरादित्य सिंधिया विशेष आमंत्रित सदस्य है। दोनों नेता हाल ही में चुनाव हार गए हैं। 

सूत्रों की मानी जाए तो इस बैठक में राज्यों को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं लिया जाना है, इसलिए राज्यों से मुख्यमंत्रियों को बैठक में आना अनिवार्य नहीं किया गया था। इस कारण से ही कमलनाथ इस बैठक में शामिल नहीं हुए। रविवार को विधायक दल की बैठक को सोमवार को कैबिनेट की बैठक लेने के बाद कमलनाथा दिल्ली जा सकते हैं और हार के कारणों की जानकारी राष्टÑीय नेतृत्व को देंगे। 

Source : Agency