बुरहानपुर 
बुरहानपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा के तेवरों के बाद कमलनाथ अपनी सरकार को मजबूत रखने की कवायाद में जुट गए गए हैं। इसके चलते सरकार में निर्दलीयों को मंत्री पद दिया जा सकता है। प्रदेश में चार निर्दलीय विधायक हैं,जिनमें से अभी सिर्फ एक प्रदीप जायसवाल को कमलनाथ ने मंत्री बनाया है, जबकि तीन निर्दलीय विधायकों को अब मंत्री बनाया जा सकता है। 

सुरेंद्र सिंह शेरा की आज भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और दमोह सांसद प्रहलाद पटेल से हुई मुलाकात के बाद कमलनाथ सरकार उन्हें साधने के तेज प्रयास कर रही है। भाजपा के दो कद्दावर नेताओं से मुलाकात के बाद शेरा को लेकर कांग्रेस सरकार चिंतित हो गई है। शेरा इससे पहले भी कई बार अपने बयानों में कांग्रेस को समर्थन देने के फैसले को बरकारार रखने पर पुन: विचार करने की बात कर चुके हैं। 

उधर यह लगभग तय हो चुका है कि मंत्रिमंडल का जल्द ही विस्तार किया जाएगा। जिसमें सुरेंद्र सिंह शेरा और केदार डावर को मंत्री बनाया जा सकता है। इनके अलावा एक अन्य निर्दलीय विधायक विक्रम सिंह राणा को लेकर भी विचार किया जा रहा है। इन निर्दलीयों के अलावा भी एक या दो कांग्रेस अपने विधायकों को मंत्री बना सकती है। प्रदेश में अभी 28 कैबिनेट मंत्री है। 

Source : Agency