लखनऊ 
शामली में पत्रकार अमित शर्मा की पिटाई मामले में डीजीपी ओपी सिंह ने एक्शन लेते हुए जीआरपी इंस्पेक्टर राकेश कुमार को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है. साथ ही डीजीपी ने एसपी जीआरपी मुरादाबाद को मौके पर पहुंचने के निर्देश देते हुए 24 घंटे में रिपोर्ट तलब की है. एसपी जीआरपी की रिपोर्ट पर आगे की कार्रवाई तय होगी. उन्होंने एडीजी रेलवे से भी मामले पर नजर बनाए रखने को कहा है.

दरअसल ट्रेन डीरेल होने की सूचना पर पत्रकार अमित शर्मा मौके पर पहुंचे थे और हादसे की खबर कवरेज कर रहे थे. उसी दौरान एसओ राकेश कुमार भी मौके पर आ गए और खबर कवरेज करने का विरोध करने लगे. इसके बाद एसओ राकेश कुमार का पारा सातवें आसमान पर चढ़ गया और उन्होंने मारपीट शुरू कर दी. इस हाथापाई में पत्रकार अमित शर्मा का कैमरा भी टूट गया. लेकिन दबंग एसओ का गुस्सा इतने से भी शांत नहीं हुआ. उन्होंने अपने छह पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर पत्रकार को घेर लिया और अमित पर जानलेवा हमला कर दिया.

दबंगों ने पत्रकार को जान से मारने की नीयत से एक के बाद एक कई थप्पड़ जड़ दिए और लात- घुसों से करीब 500 मीटर तक पत्रकार को बुरी तरह पीटते हुए थाने ले गए. बेबस पत्रकार गिड़गिड़ाता रहा और अपनी जान की भीख मांगता रहा, लेकिन मानो एसओ राकेश कुमार व उसके गुर्गों के सिर पर भूत सवार था. मारने के बाद पत्रकार अमित शर्मा को हवालात में डाल दिया.

गौरतलब है कि पत्रकार अमित शर्मा ने कुछ दिन पूर्व शामली रेलवे स्टेशन पर काम कर रहे अवैध वेंडरों की खबर चलाई थी. जिस पर एसओ जीआरपी की फजीहत हुई थी. जिससे झल्लाए एसओ ने अपना बदला पूरा किया. पत्रकार की पिटाई करते हुए उसे हवालात में डाल दिया.

Source : Agency