कोई भी रिश्ता परफेक्ट नहीं होता। और यह भी सच है कि कोई अपने पार्टनर से लड़ना नहीं चाहता। लेकिन लड़ाई के इस दौर से हर कपल को गुजरना पड़ता है। क्यों बनती हैं ऐसी स्थितियां देखिए इन दर्जनभर दिक्कतों में...

राय का अंतर
हम सभी लोग अलग-अलग तरीके से सोचते हैं। दुनिया में कोई भी दो व्यक्ति एक जैसे नहीं हो सकते हैं। ऐसे में अपने पार्टनर की अलग राय के लिए उसे दोष देना, हममें से ज्यादातर कपल यह करते हैं!

सेक्स लाइफ का संघर्ष
जरूरी नहीं कि जब आप सेक्स के मूड में हो तो आपका पार्टनर भी हो। यह भी जरूरी नहीं कि जो सेक्स पोश्चर आपने सोचा हो, वह आपको आपकी अपेक्षाओं जितना ही प्लेजर दे। जरूरी है कि फैक्ट को स्वीकार किया जाए और आगे बढ़ा जाए। यहां चीजें हर बार परफेक्ट नहीं होतीं।

मनी मैटर्स
पैसा खर्च करने और बचत करने का हर किसी का अपना तरीका होता है। पैसों से जुड़े झगड़े कपल्स के बीच बहुत आम हैं। फिर यदि आप दोनों घर-परिवार के खर्च मिलकर उठा रहे हैं तो इस तरह का टकराव बहुत कॉमन है। पुरानी कहावत है 'दो बर्तन साथ में रखें होंगे तो आवाज होगी ही'।

संदेह और असुरक्षा
कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कितने समय से साथ हैं, संदेह और असुरक्षाएं मानव स्वभाव का एक हिस्सा हैं। लेकिन इस बात पर गौर करें कि आप दोनों साथ हैं यानी आपने एक-दूसरे में कुछ तो अच्छा देखा है।

Source : Agency