अनंतनाग
अमरनाथ यात्रा से ठीक पहले साउथ कश्मीर के अनंतनाग जिले में बड़ा आतंकी हमला हुआ है। आतंकियों ने बुधवार को यहां की एक भीड़भाड़ वाली सड़क पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (CPRF) की एक पट्रोल पार्टी को निशाना बनाया। हमले में सीआरपीएफ के 5 जवान शहीद हो गए और पांच अन्य घायल हुए हैं जिनमें से एक जम्मू और कश्मीर पुलिस के इंस्पेक्टर भी शामिल हैं।


अनंतनाग के SHO घायल, श्रीनगर शिफ्ट
अधिकारियों ने बताया कि कम से कम दो आतंकियों ने केपी रोड पर CRPF के काफिले पर ऑटोमेटिक राइफलों से अंधाधुंध गोलियां बरसाईं और फिर ग्रेनेड फेंके। अब भी गोलीबारी जारी है। सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में एक आतंकी भी मारा गया है। अनंतनाग पुलिस स्टेशन के SHO अरशद अहमद भी हमले में घायल हो गए हैं। उन्हें इलाज के लिए श्रीनगर शिफ्ट किया गया है।

अल मुजाहिदीन ने ली जिम्मेदारी
टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक अल उमर मुजाहिदीन नाम के आंतकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। इस आतंकी संगठन ने कहा है कि मुश्ताक जरगर उसका सरगना है। बताया जा रहा है कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान वह भी निशाने पर था। आपको बता दें कि मुश्ताक जरगर वही शख्स है जिसे 1999 में विमान आईसी-814 के अपहृत यात्रियों को छोड़ने के बदले भारत सरकार ने रिहा किया था। उसके साथ मसूद अजहर और शेख उमर को भी छोड़ा गया था।

इंटरनेट सेवा बंद
हमारे सहयोगी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के मुताबिक एक स्थानीय लड़की को भी गोली लगी है। बताया जा रहा है कि जिस इलाके में हमला हुआ है वहां अक्सर लॉ ऐंड ऑर्डर को बनाए रखने के लिए पुलिस और सीआरपीएफ की टुकड़ी मिलकर गश्त करती है। अनंतनाग में फिलहाल इंटरनेट सेवा रोक दी गई है।

Source : Agency