मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव के दौरान 'वक्त है बदलाव का' नारा दिया था. यहां वास्तव में वक्त में बदलाव का आ गया है. प्रदेश में कांग्रेस की सरकार भी बन गई है. इस सरकार ने पिछली सरकार की योजनाओं को बंद करने या उनके नाम में बदलाव का काम किया. सरकार की ओर से उसके बाद एक और आदेश जारी हुआ है, जिसमें सरकारी स्कूलों में निःशुल्क वितरित की जाने वाली पाठ्यपुस्तकों में छपे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संदेश वाले पेज को हटाए जाने की बात का उल्लेख है. यह आदेश राज्य शिक्षा केन्द्र की संचालक आईरीन सिंथिया जेपी ने प्रदेश के समस्त कलेक्टरों को जारी किया है.


इस आदेश का पालन करते हुए स्कूलों में मौजूद पिछले वर्ष की पाठ्य पुस्तकों में से पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संदेश का पर्चा फाड़कर निकाला जा रहा है. आदेश के अनुसार, निगम के भंडार और डिपो में मौजूद ऐसी किताबों से भी संदेश को विलोपित किए जाने का उल्लेख किया गया है. बहरहाल शिक्षा के स्तर और गुणवत्ता के सुधार में कोई बदलाव हो न हो लेकिन किताब में छपे एक संदेश को हटाकर सरकार पता नहीं कौन सा बड़ा बदलाव लाना चाहती है.

Source : Agency