भोपाल
मध्य प्रदेश में अब कांग्रेस लगातार दावे कर रही है कि उनकी पार्टी के संपर्क में कई बीजेपी विधायक हैं।  सबसे ज्यादा निगाहें सिवनी के विधायक दिनेश राय मुनमुन और कटनी विजयराघवगढ़ के विधायक संजय पाठक पर हैं। स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने भी दोनों विधायकों के नाम लेकर दावा किया वह पार्टी संपर्क में हैं और शामिल भी हो सकते हैं। संजय पाठक का नाम आने से विवाद गरमा गया। उन्होंने इस बार में खुल कर बयान दिया और सभी चर्चाओंं को खारिज कर दिया।

बीजेपी विधायक संजय पाठक ने कहा कि किसी को भी चिंतित होने की जरूरत नहीं है। बीजेपी नेतृत्व को सबकी जानकारी है। जब उनसे पूछा गया कि वह मुख्यमंत्री कमलनाथ से आज मिलने मंत्रालय गए थे ? इस बारे में उन्होंने कहा कि कमलनाथ मेरे पिता जैसे हैं। मैं अपने क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए अफसरों से मुलाकात करने गया था। लेकिन उसको मुख्यमंत्री से मुलाकात कह कर मीडिया में जारी कर दिया। हर विधायक का यह दायित्व होता है कि वह अपने क्षेत्र में विकास के लिए अटकी फाइलों के लिए अफसरों से मुलाकात करता रहे और उनके पीछा पड़ा रहे जबतक वह काम पूरा नहीं हो जाता। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमलनाथ का मैं आदर करता हूं वह मेरे पिता के करीबी थे। लेकिन मेरा पार्टी छोड़ कर कांग्रेस में शामिल होने की बात अफवाह है। जब कांग्रेस प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने उनसे पूछा कि वह कब घर वापसी करेंगे? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं कल घर वापसी करूंगा, आज रात मैं कटनी अपने घर रिवांचल ट्रेन से जा रहा हूं। और सुबह तक मैं अपेन घर पहुंच जाऊंगा।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में हर पल सियासी समीकरण बदल रहे हैं। बीजेपी जहां एक ओर बैकफुट पर नज़र आ रही वहीं कांग्रेस अब यह दावा करते नहीं थक रही कि बीजेपी के कई विधायक उनके संपर्क में हैं। जिसके बाद सियासी हलचल तेज हो गई है। दोनों पार्टी एक दूसरे को पटकनी देने की रणनीति तय कर रही हैं। वहीं बीजेपी में हालांकि, गुटबाजी होने की खबरे में सामने आई हैं। पार्टी विधायक नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव से नाराज़ बताए जा रहे हैं।

संजय पहले कांग्रेस में शामिल थे, पर हाल ही में उन्होंने भाजपा ज्वाइन की। अगस्त 2014 में हुए उपचुनाव में उन्होंने अपनी सम्पत्ति घोषित की, तो वो 141 करोड़ से अधिक थी। इससे पहले वर्ष 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में उन्होंने अपनी सम्पत्ति 121.32 करोड़ रुपए बताई थी।

संजय पाठक के पिता सत्येंद्र पाठक दिग्विजय सिंह के कार्यकाल में मंत्री थे। इनके मप्र के नेशनल पार्क जैसे-कान्हा, पेंच के अलावा खजुराहो में सायना नाम से हेरिटेज होटल की चेन है। इसके साथ ही आयरन, बाक्साइट, कोल आदि की माइन्स के ठेके भी संजय पाठक ने ले रखे हैं। इनकी इंडोनेशिया में भी कोल की माइन्स हैं।

Source : Agency