मुंबई
महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव का प्रचार जोर पकड़ चुका है। चुनावी समर में मुख्य मुकाबला बीजेपी-शिवसेना और कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन के बीच है। इस चुनाव में एक खास बात यह होने जा रही है कि पहली बार शहीद-ए-आजम भगत सिंह के परिवार का कोई सदस्य किसी नेता के लिए वोट मांगने जा रहा है। मुंबई से सटा कल्याण इसका गवाह बनने जा रहा है।

शहीद भगत सिंह के पौत्र विक्रम सिंह संधू ने चुनाव में बीजेपी के वर्तमान एमएलए नरेंद्र पवार के पक्ष में प्रचार करने का फैसला किया है। हालांकि बीजेपी ने इस बार पवार का टिकट काट दिया है। लेकिन वह बतौर निर्दलीय उम्मीदवार कल्याण (पश्चिम) सीट से चुनाव मैदान में हैं। बुधवार को संधू ने कल्याण के शिवाजी चौक इलाके में पवार के चुनाव प्रचार कार्यालय का उद्घाटन किया। ऐसा पहली बार है जब शहीद-ए-आजम के परिवार का कोई मेंबर किसी राजनेता के पक्ष में प्रचार करते हुए वोट मांगेगा।

महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटों के लिए 21 अक्टूबर को मतदान है। रिजल्ट 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे। बीजेपी ने इस बार छत्रपति शिवाजी और लोकमान्य तिलक के वंशजों को भी टिकट दिया है। सतारा विधानसभा से छत्रपति शिवाजी के वंशज शिवेंद्र सिंह भोंसले चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, लोकमान्य तिलक के घराने से आने वाली मुक्ता तिलक कस्बा पेठ विधानसभा से बीजेपी प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रही हैं।

सीएम देवेंद्र फडणवीस नागपुर दक्षिण-पश्चिम से चुनाव लड़ रहे हैं। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत दादा पाटिल कोथरूड विधानसभा से मैदान में हैं। इसके अलावा पंकजा मुंडे को एक बार फिर परली विधानसभा से टिकट मिला है। पंढरपुर विट्ठल मंदिर देवस्थान के अध्यक्ष अतुल भोंसले कराड दक्षिण से चुनाव लड़ रहे हैं। इसके साथ ही सतारा लोकसभा उपचुनाव में शिवाजी के वंशज उदयन राजे भोंसले को टिकट दिया गया है।

Source : Agency