शाहजहांपुर 
उसी स्वर में, उसी स्पीड में बोलो जैसे वीडियो में बोल रहे थे...चिन्मयानंद। कहो....चश्मा क्यों पहनने लगी हो। इसी तरह से छात्रा को भी कहा गया कि....हवाई जहाज इतना बड़ा होता है। यह सब हुआ लखनऊ के एफएसएल में, जहां बुधवार को आवाज के नमूने लिये गए। अलग-अलग वक्त पर एक-एक कर दो केसों के पांच आरोपियों को विधि विज्ञान प्रयोगशाला में ले जाया गया, वहां उनकी आवाज का नमूना लिया गया। यह नमूने एसआईटी के पास मौजूद 60 से अधिक वीडियो में सुनी जा रही आवाजों से मिलान कराए जाएंगे, अगर आवाज के नमूने मेल खा गए तो आरोपियों के खिलाफ सबूत और पुख्ता हो जाएंगे।

चिन्मयापंद से रंगदारी मांगने वाले आरोपियों की भी वॉइस सैंपलिंग
जिला जेल में बंद दुराचार के आरोपी चिन्मयानंद, रंगदारी मांगने की आरोपी छात्रा, उसके साथी संजय सिंह, विक्रम सिंह, सचिन सेंगर को बुधवार को एसआईटी के निर्देश पर पुलिस लखनऊ विधि विज्ञान प्रयोगशाला ले गई थी। सभी की आवाज का नमूना लिया गया, इसके बाद देरशाम तक सभी को सुरक्षित शाहजहांपुर जिला जेल में दाखिल करा दिया गया। यहां देरशाम पहुंचे चिन्मयानंद बेहद थके हारे लग रहे थे। बेहाल हालत थी उनकी। वह पुलिस की गाड़ी में आगे बैठे थे। गाड़ी जेल के पहले गेट तक गई, फिर गेट बंद कर लिया गया। सूत्रों के मुताबिक इसके बाद वह दूसरे गेट से पैदल ही अपनी बैरक तक गए। इससे पहले छात्रा को जेल में दाखिल कराया गया। सबसे बाद में तीनों युवक जिला जेल में दाखिल कराए गए।

 
60 से ज्यादा वीडियो हैं एसआईटी के पास
स्वामी चिन्यामनंद केस की जांच कर रही एसआईटी को सबूत के तौर पर दोनों ओर से 60 से अधिक वीडियो मिले थे। इसमें संजय सिंह ने पेन ड्राइव में करीब 16 वीडियो सौंपे थे। इसी तरह से छात्रा ने पेन ड्राइव में करीब 43 वीडियो सौंपे थे। चिन्मयानंद की ओर से भी करीब चार वीडियो एसआईटी को सौंपे गए थे। 

इसलिए जरूरत पड़ी वाइस सैम्पल की
दोनों ही पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ सबूत के तौर पर वीडियो दिए। दोनों ही पक्ष अपने खिलाफ बने वीडियो को फर्जी बता रहे थे। वीडियो सही है, इसकी रिपोर्ट तो एसआईटी ने एफएसएल से हासिल कर ली थी। पर आवाज को भी लेकर एसआईटी अपनी स्थिति को पुख्ता कर लेना चाहती थी, इसलिए वाइस सैम्पलिंग कराई गई।

आज होगी संजय, विक्रम, सचिन की जमानत पर बहस
जिला जज की अदालत में चिन्मयानंद से पांच करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोपी संजय सिंह, विक्रम सिंह, सचिन सेंगर की जमानत पर बहस होगी। सुबह करीब 11 बजे बहस शुरू होगी, इसके बाद शाम चार बजे के बाद जिला जज जमानत पर फैसला देंगे। बता दें कि रंगदारी मांगने की आरोपी छात्रा की जमानत पहले ही खारिज हो चुकी है। उसके बाद ही तीनों की जमानत अर्जी लगाई थी, जिस पर गुरुवार को सुनवाई होगी।

Source : Agency