रांची
 एक समय था जब वनडे क्रिकेट के सबसे तूफानी बल्लेबाजों में से एक हिटमैन रोहित शर्मा (212) टेस्ट टीम में जगह बनाने के लिए जूझ रहे थे। अंतिम-11 में या तो उन्हें जगह नहीं मिल पा रही थी और अगर मिलती थी तो वह छाप नहीं छोड़ पा रहे थे। हनुमा विहारी जैसे बल्लेबाज के टीम में फिट होने के बाद रोहित के लिए टेस्ट क्रिकेट में खेलने के सारे दरवाजे बंद हो चुके थे।

ओपनिंग पर लगातार असफल हो रहे भारतीय बल्लेबाजों के बीच रोहित को एक नई किरण बतौर ओपनिंग बल्लेबाज दिखाई दी। वह पहले टेस्ट में मध्य क्रम में असफल बल्लेबाज के तौर पर गिने जाते थे लेकिन जैसे ही उन्होंने ओपनिंग पर मौका मिला तो उन्होंने इसका पूरा फायदा उठाया। अब उनके टेस्ट करियर की यह दूसरी पारी शुरू हो चुकी है और उनका 2.0 वर्जन देखने को मिल रहा है।

रविवार को यहां जेएससीए स्टेडियम में रोहित ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक छक्का लगाकर दिखाया। और उनकी इस दमदार पारी की बदौलत भारतीय टीम ने नौ विकेट पर 497 रन बनाकर अपनी पहली पारी घोषित की। रोहित के अलावा अजिंक्य रहाणे ने भी शतक जड़ा।

Source : Agency