रायपुर

मुख्य सचिव श्री आर.पी. मण्डल ने आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, भिलाई, कोरबा के नगर निगम आयुक्तों और जोन कमिश्नरों की बैठक ली। श्री मण्डल ने स्पष्ट रूप से कहा है कि शहरों की साफ-सफाई, विद्युत आपूर्ति और सौन्दर्यीकरण की प्रक्रिया को एक सप्ताह के भीतर व्यवस्थित रूप दिया जाए और नियमित रूप से इसकी मॉनिटरिंग की जाए। आठवें दिन से मुख्य सचिव स्वयं किसी नगरीय इलाके का भ्रमण करेंगे और किसी भी प्रकार की अनियमितता या लापरवाही पाए जाने पर संबंधित जोन कमिश्नर के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। श्री मण्डल ने स्मार्ट सिटी के रूप में चिन्हित शहरों की सफाई व्यवस्था, विद्युत आपूर्ति, पेयजल आपूर्ति, चौक-चौराहों के सौन्दर्यीकरण के कार्य पर विशेष रूप से ध्यान देने के निर्देश दिए हैं।
मुख्य सचिव ने नवा रायपुर और रायपुर शहर के विभिन्न स्थानों और चौक-चौराहांे का उल्लेख करते हुए कड़े शब्दों में कहा है कि स्मार्टसिटी रायपुर को सुन्दर बनाने के लिए मिशन मोड में काम किया जाए। जगह-जगह विभिन्न कारणों से बने हुए गड्डों को पाटने और अस्त-व्यस्त तरीके से बने चौक-चौराहों को व्यवस्थित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बिजली की बरबादी रोकने और बिजली के खपत पर नियंत्रण रखने को कहा है। समय से पहले स्ट्रीट लाईट जलना और सवेरे देर से बंद करने की प्रक्रिया को उन्होंने गम्भीरता से लिया है और इसका विशेष ध्यान रखने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।
श्री मण्डल ने राज्य के सभी नगरीय निकायों के प्रभारी अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे सवेरे 6 बजे से अपने-अपने शहरों के वार्डो का भ्रमण शुरू करें और स्वयं सफाई व्यवस्था की मॉनिटरिंग करें, जिससे शहरों में गंदगी न फैलंे और जन सामान्य को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। उन्होंने स्वसहायता समूहों के माध्यम से पेपर बैग और ट्री-गार्ड के निर्माण आजीविका मिशन के तहत कराए जाने के निर्देश भी दिए हैं। बैठक में विशेष सचिव नगरीय प्रशासन श्रीमती अलरमेल मंगई डी. सहित रायपुर, दुर्ग, भिलाई, कोरबा, बिलासपुर, नगर निगम के आयुक्त, जोन कमिश्नर और नगरीय प्रशासन विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Source : Agency