प्रयागराज 
यूपी बोर्ड के परीक्षा केंद्रों की सूची जारी होने के साथ ही परीक्षा केंद्रों को लेकर विवाद की स्थिति बन गई है। लालगोपालगंज स्थित स्व. श्रीमती सुमेरा देवी पटेल इंटरमीडिएट कॉलेज के प्रधानाचार्य ने डीआईओएस को पत्र लिखकर कर विद्यालय को परीक्षा केंद्र न बनाने पर आपत्ति तो की ही है, इलाके के दो विद्यालयों को मानक के विपरीत केंद्र बनाने का आरोप भी लगाया है।
 
प्रधानाचार्य का कहना है कि उनके विद्यालय को पिछले छह वर्षों से लगातार परीक्षा केंद्र बनाया जा रहा था। इस वर्ष भी डीआईओएस दफ्तर की टीम ने भौतिक सत्यापन किया लेकिन परीक्षा केंद्र नहीं बनाया गया। उनके कॉलेज में 216 छात्राएं हैं और दावा है कि वे केंद्र निर्धारण के सभी मानकों को पूरा भी करते हैं। प्रधानाचार्य का दावा है कि परीक्षा केंद्र बनाए गए सिद्ध नारायण बालिका इंटर कॉलेज उदित नगर अंधियारी तथा कुद्दूसी सामाजिक विकास इंटर कॉलेज लालगोपालगंज को मानक के विपरीत परीक्षंा केंद्र बनाया गया है। प्रधानाचार्य ने पत्र में अपने विद्यालय की केंद्र बनाए गए दोनों विद्यालयों से तुलना करते हुए बताया है कि उनके विद्यालय में 15 पक्के कमरे हैं जबकि सिद्ध नारायण कॉलेज में आठ, कुद्दूसी कॉलेज में नौ पक्के कमरे हैं। इसी क्रम में उनके विद्यालय में सात शौचालय हैं जबकि शेष दो विद्यालयों में दो-दो शौचालय ही हैं।

Source : Agency