इंदौर
भारत के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने अपने टेस्ट करियर का दूसरा दोहरा शतक जड़ा। उन्होंने मेहदी हसन की गेंद पर छक्का लगाकर यह उपलब्धि हासिल की।अग्रवाल अपने दोहरे शतक के साथ ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन से भी आगे निकल गए। मयंक ने यहां के होल्कर स्टेडियम में बांग्लादेश के साथ जारी पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन छक्के के साथ अपने करियर का दूसरा दोहरा शतक पूरा किया। दोहरा शतक के बाद उन्होंने अपनी बैटिंग में और भी आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया और तेजी से रन जुटाने में बिजी हो गए। हालांकि 243 के निजी स्कोर पर वह मेहदी हसन की गेंद पर ही बाउंड्री लाइन के भीतर कैच आउट हो गए।

मयंक ने 12वीं पारी तक जाते-जाते दो दोहरे शतक लगा लिए हैं, जबकि ब्रैडमैन ने दो दोहरो शतकों के लिए 13 पारियों का इंतजार किया था। इस फेहरिस्त में हालांकि भारत के विनोद कांबली सबसे आगे हैं, जिन्होंने अपने करियर की शुरुआती पांच पारियों में ही दो दोहरे शतक लगा लिए थे।

इस सूची में वेस्ट इंडीज के लॉरेंस रो 14 पारियों के साथ चौथे स्थान पर हैं, जबकि साउथ अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ 15 पारियों के साथ पांचवें स्थान पर हैं। इसी तरह वॉली हेमंड 16 पारियों के साथ छठे और भारत के चेतेश्वर पुजारा 18 पारियों के साथ सातवें स्थान पर हैं।

मयंक ने बीते महीने साउथ अफ्रीका के साथ आयोजित टेस्ट सीरीज के दौरान विशाखापट्नम में 215 रनों की पारी खेली थी। वह उनका पहला दोहरा शतक था, जिसे उन्होंने दोहरे शतक में तब्दील किया था। मयंक का यह तीसरा शतक है। मयंक ने पुणे टेस्ट में भी 108 रनों की पारी खेली थी।

शुक्रवार को इंदौर के होलकर स्टेडियम में उन्होंने शानदार बल्लेबाजी करते हुए यह मुकाम हासिल किया। उन्होंने अपने कल के स्कोर 37 से आगे खेलना शुरू किया और चेतेश्वर पुजारा के साथ पारी को आगे बढ़ाया। मयंक की इस शानदार पारी की बदौलत टीम इंडिया इस टेस्ट मैच में मजबूत स्थिति में पहुंच गई है। दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम ने 6 विकेट के नुकसान पर 493 रन बनाए।

अब टीम इंडिया मेहमान टीम से 343 रन आगे है। आज स्टंप के समय रवींद्र जडेजा (60*) और उमेश यादव (25*) नाबाद पविलियन लौटे। जडेजा के अलावा उपकप्तान अजिंक्य रहाणे (86) और चेतेश्वर पुजारा (54) ने अपनी-अपनी हाफ सेंचुरी पूरी की।

मयंक ने 98 गेंदों पर अपनी हाफ सेंचुरी पूरी की। पुजारा के आउट हो ने बाद कप्तान विराट कोहली भी जल्दी आउट हो गए। भारतीय टीम तीन विकेट पर 119 के स्कोर पर पहुंच चुकी थी। ऐसे में इसके बाद उन्होंने अजिंक्य रहाणे के साथ मिलकर भारतीय पारी को संवारने का काम किया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 190 रनों की साझेदारी की। रहाणे 86 रन बनाकर आउट हुए।

 

Source : Agency