मुंबई
रिलायंस जियो इन्फोकॉम और भारती एयरटेल के बीच अधिक ग्राहक जोड़ने की लड़ाई तेज हो गई है। इसके लिए दोनों कंपनियां रिटेलर्स को अधिक इन्सेंटिव दे रही हैं ताकि वे एक-दूसरे के ग्राहक हथिया सकें। हाल में देश की तीनों टेलिकॉम कंपनियों ने टैरिफ में बढ़ोतरी की थी। कई डिस्ट्रीब्यूटरों और रिटेलरों ने बताया कि भारती एयरटेल के रिटेलरों को जियो के हर दो ग्राहक तोड़ने पर 100 रुपये मिलेंगे।

वोडाफोन के ग्राहक तोड़ने पर इनाम नहीं दे रही एयरटेल
एयरटेल कंपनी वोडाफोन आइडिया के ग्राहक तोड़ने पर कोई इनाम नहीं दे रही है। जियो ने रिटेलरों को बताया है कि हर नया सिम कार्ड बेचने पर उन्हें 100 रुपये मिलेंगे, जबकि पहले वह इसके लिए 40 रुपये दे रही थी। जियो के एक डिस्ट्रीब्यूटर ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया, ‘टैरिफ में बढ़ोतरी के बाद एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने अनलिमिटेड फ्री कॉल्स का ऑफर दिया है। हमें यह ऑफर इसलिए दिया गया है ताकि हम उनके अधिक से अधिक ग्राहक तोड़ सकें।’

टैरिफ बढ़ाने के बाद ग्राहक तोड़ने की जंग शुरू
वोडाफोन आइडिया और एयरटेल ने 3 दिसंबर को दरों में 40 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की थी। इसके बाद टेलिकॉम कंपनियों के बीच फिर से अधिक बाजार हथियाने की जंग तेज हुई है। जियो ने 6 दिसंबर को दरों में बढ़ोतरी की थी, लेकिन उसने यह भी दावा किया था कि उसके प्लान दूसरी कंपनियों से 25 प्रतिशत तक सस्ते हैं। इसके तुरंत बाद एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के नेटवर्क्स पर तय से अधिक कॉल करने पर अतिरिक्त शुल्क लगाने के ऐलान को वापस ले लिया था। इससे मुकेश अंबानी की टेलिकॉम कंपनी के साथ दरों में अंतर घटा था।

जियो ने फिर शुरू किया 98 रुपये वाला प्लान
जियो अभी भी दूसरी टेलिकॉम कंपनियों के नेटवर्क पर तय संख्या से अधिक कॉल्स करने पर चार्ज ले रही है। हालांकि, उसने 98 रुपये का प्लान फिर से लॉन्च किया, जिसमें दूसरी कंपनियों के नेटवर्क पर कॉल करने पर अतिरिक्त चार्ज नहीं लिया जा रहा है। ब्रोकरेज फर्म जेपी मॉर्गन ने एक नोट में लिखा, ‘इससे मिनिमम टैरिफ प्लान सस्ता हो गया। हालांकि, इसका बहुत असर नहीं होगा, इसलिए दूसरी कंपनियों ने जवाबी कदम नहीं उठाया है।’

'आसान नहीं एयरटेल-वोडा के ग्राहक तोड़ना'
जियो के एक डिस्ट्रीब्यूटर ने कहा, ‘एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के ग्राहक शायद ही पहले तय की गई कॉल्स की सीमा पार कर पाते, लेकिन अब उन्हें पता है कि यह अनलिमिटेड है। इसलिए उन्हें तोड़ना आसान नहीं होगा। हम दिन-रात अधिक ग्राहक हासिल करने के लिए काम कर रहे हैं।’ जियो अपने ग्राहकों की संख्या बढ़ाकर 50 करोड़ करना चाहती है, लेकिन उसने इसके लिए कोई समयसीमा तय नहीं की है।

एक्सपर्ट्स ने ध्यान दिलाया कि ग्राहकों की संख्या और रेवेन्यू मार्केट शेयर (आरएमएस) के लिहाज से तीनों कंपनियां काफी करीब हैं। इनमें वित्तीय तौर पर वोडाफोन आइडिया सबसे कमजोर है। ऐसे में उसके लिए अपना बाजार बचाए रखना मुश्किल होगा।

Source : Agency