नई दिल्ली
डेटिंग साइट्स से प्यार' आपको महंगा पड़ सकता है। आपको बड़ी चपत लग सकती है। पिछले दिनों मुंबई के 79 साल के व्यक्ति को ई-डेटिंग फ्रॉड में 1.5 करोड़ रुपये की चपत लगी। इस व्यक्ति के साथ फ्रॉड एक विदेशी महिला ने किया, जिससे उनकी दोस्ती एक यूरोपियन सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म के जरिए हुई थी। अब 65 साल के एक व्यक्ति को डेटिंग साइट पर इनरॉल कराने के बहाने जालसाजों ने 73.5 लाख रुपये का चूना लगा दिया है।

जालसाजों ने ऐसे बनाया शिकार
जालसाजों ने इस मामले में Locanto डेटिंग सर्विसेज ऐंड स्पीड डेटिंग की मेंबरशिप ऑफर की। जालसाजों ने दावा किया कि वह मेंबर की चुनी गई लोकेशन पर डेट्स के लिए गर्ल्स भेजते हैं। व्यक्ति ने रजिस्ट्रेशन और दूसरी फीस का भुगतान कर दिया। लेकिन, जब उन्हें डेटिंग की सहूलियत नहीं मिली तो उन्होंने मेंबरशिप कैंसल करने की मांग की। लेकिन, जालसाजों ने बढ़ा-चढ़ाकर कैंसलेशन चार्ज मांगे। साथ ही, डेटिंग के लिए गर्ल्स की डिमांड करने के लिए उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत करने की धमकी दी गई। साथ ही, उस व्यक्ति को डराने और पैसे ऐंठने के लिए जालसाजों ने लीगल नोटिस भी भेजे।

कानूनी पचड़ों से बचाने के लिए जालसाजों ने उस व्यक्ति से पैसे मांगे। उस व्यक्ति ने भी सामाजिक प्रतिष्ठा गंवाने के डर से अलग-अलग बैंक खातों में 73.5 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए। हालांकि, बाद में उन्होंने पुलिस से संपर्क किया और इस मामले में FIR दर्ज कराई। इसके बाद, कोलकाता के एक फर्जी कॉल सेंटर को पकड़ा गया है।

आपको फ्रॉड से बचाएंगी ये टिप्स
फ्रॉड के ऐसे मामले लगातार बढ़ रहे हैं। अगर आप भी डेटिंग साइट्स और ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं तो सतर्क हो जाइए। कभी भी खुद की, अपने परिवार और दोस्तों की पर्सनल इंफॉर्मेशन, बैंक खातों और क्रेडिट कार्ड के डीटेल्स इन प्लैटफॉर्म्स पर साझा न करें। इसके अलावा, अपना आखिरी नाम, पता, फोन नंबर भी साझा न करें। अपने मोबाइल पर कोई अनजाना मोबाइल ऐप न डाउनलोड करें। अगर कोई आपको ई-मेल अटैचमेंट्स या इंस्टैंट-मेसेज अटैचमेंट भेजे तो उसे उस वक्त तक ओपन न करें, जब तक आप इस बात को लेकर सुनिश्चित न हो जाएं कि इसमें कोई वायरस नहीं है।

आकर्षक फोटो लगाकर बना लेते हैं फर्जी प्रोफाइल
डेटिंग साइट्स और ऐप्स पर विदेशी ठगों का जाल फैला हुआ है, इससे बचें। साथ ही, अगर कोई आपको महंगा गिफ्ट भेजने और उसके कस्टम में अटकने की बात कहे तो सतर्क हो जाइए, क्योंकि यह ठगी का एक तरीका है। जालसाज डेटिंग साइट्स और ऐप्स पर फर्जी प्रोफाइल बना लेते हैं। आमतौर पर ये आकर्षक फोटोज के जरिए लोगों को लुभाते हैं।

Source : Agency