भोपाल। पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया अब गुना के सांसद केपी यादव के घर नहीं जाएंगे। सिंधिया का संशोधित दौरे में उनके घर जाने का प्रोग्राम कैंसिल कर दिया गया है। दरअसल सिंधिया के सांसद के घर जाने का कार्यक्रम सार्वजनिक होने के बाद क्षेत्र की राजनीति गर्मा गई थी। जिस पर एक सभा में सांसद यादव ने कहा था कि सिंधिया क्या उनके जले पर नमक छिड़कने आ रहे हैं।
गौरतलब है कि यादव के पिता रघुवीर सिंह का निधन करीब चार माह पूर्व हो गया था। सिंधिया उनके यहां पर शोक जताने के लिए जाने वाले थे। 17 जनवरी को उनके तय कार्यक्रम  में केपी यादव के घर जाने का भी था। असल में दोनों नेताओं के बीच अनबन तक बढ़ी जब सांसद पर जाति प्रमाण पत्र को लेकर एफआईआर दर्ज हुई। इस मामले मे सांसद ने खुल कर ज्योतिरादित्य सिंधिया के इशारे पर प्रकरण दर्ज किए जाने की कहा था। हाल ही में एक सभा में यादव ने कहा था कि पिता की मौत चार महीने पहले हुई थी, तब शोक जताने आना था। इस समय आने का क्या औचित्य, वे शोक जताने आ रहे हैं या जख्मों पर नमक छिड़कने।  इस तहर के बयानबाजी के बाद यहां की राजनीति गर्मा गई थी।
 आनन-फानन में सोमवार को सिंधिया ने अपने कार्यक्रम में बदलाव किया और सांसद केपी यादव के घर जाने का इरादा बदल दिया।

Source : Agency