इंदौर
 प्रदेश सरकार के खिलाफ शुक्रवार को भाजपा ने कलेक्टोरेट पर बड़ा प्रदर्शन किया। भाषण मे बाद सभी नेता कलेक्टोरेट घेरने गए। कुछ देर प्रदर्शन के बाद सभी नेताओं ने गिरफ्तारी दी है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह के नेतृत्व में प्रदर्शन था। सभी भाजपा विधायक, पदाधिकारी, सांसद शंकर लालवानी, महापौर मालिनी गौड़ समेत पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन भी पुलिस वैन में बैठी। गिरफ्तारी के बाद भाजपा नेताओं को जेल ले जाया गया है। कुछ देर बाद उन्हें जमानत पर रिहा किया गया। प्रशासन ने बीजेपी के 353 नेता और कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी दर्शाई। सभी को जमानत दे दी गई।

माफिया मुहिम में भाजपाइयों को निशाना बनाने के आरोप लगाते हुए कलेटोरेट के सामने भाजपा ने धरना दिया। प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया गया था। प्रदर्शन का नेतृत्व करने वाले प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह कल रात को इंदौर आ गए, जिन्होंने संख्या को लेकर सभी नेताओं को तलब किया। विधायक रमेश मेंदोला, सुदर्शन गुप्ता, मधु वर्मा पहुंचे, शेष से फोन पर बात की। प्रदर्शन को देखते हुए वज्र से लेकर बड़ी संया में पुलिस फोर्स को तैनात किया गया था।
ttt

धरने के लिए 1200 वर्गफीट का मंच लगाया गया था। गौरतलब है कि आज प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर प्रदर्शन हो रहे हैं। किसानों की ऋण माफी, युवाओं को बेरोजगार भत्ता सहित अन्य वादें पूरे नहीं करने के अलावा प्रदेश में अफसरशाही की मनमानी को भी मुद्दा बनाया गया है। पिछले दिनों राजगढ़ कलेक्टर द्वारा सीएएए के समर्थन में निकली रैली में शामिल भाजपा नेताओं को थप्पड़ मारने पर भी सरकार को घेरा।

Source : Agency