चाहे कॉलेज जाना हो या फिर ऑफिस या किसी फंक्शन में जाना हो, और भी ज्यादा खूबसूरत दिखने के लिए लड़कियां मेकअप जरूर करती हैं। आजकल तो मार्केट में कई ऐसे मेकअप प्रॉडक्ट्स मिलते हैं जिनमें विटमिन से लेकर स्किन क्वॉलिटी को बेहतर बनाने से जुड़े तत्वों का इस्तेमाल होता है। लेकिन प्रॉडक्ट चाहे जितने भी अच्छे और महंगे क्यों न हों पर अगर कुछ बातों का ध्यान न रखा जाए तो यही मेकअप लुक बेहतर बनाने की जगह उसे और बिगाड़ देगा।

फाउंडेशन से पहले क्रीम न लगाना
कई लड़कियां फाउंडेशन लगाने से पहले मॉइस्चराइजर नहीं लगाती हैं जो स्किन को तो नुकसान पहुंचाता ही है साथ ही में फेस को भी फ्लॉलेस लुक नहीं मिल पाता। फाउंडेशन से पहले फेसक्रीम जरूर लगाना चाहिए। मॉइस्चराइजिंग क्रीम से स्किन को न सिर्फ पूरे दिन सॉफ्ट बने रहने और पोर्स को क्लीन रखने में मदद मिलती है बल्कि यह फाउंडेशन लुक को भी फ्लॉलेस बनाता है।

ड्राई लिप्स पर लिपस्टिक
अक्सर महिलाएं मेकअप करने के दौरान चेहरे के बाकी हिस्सों पर तो ध्यान देती हैं लेकिन जब बात होंठों की आती है तो वे उसे लेकर थोड़ी केयरलेस हो जाती हैं। ज्यादातर महिलाएं लिपस्टिक लगाने से पहले लिप बाम या लिप क्रीम नहीं लगाती हैं जिससे कुछ घंटों बाद उनके होंठ सूखने लग जाते हैं और स्मूद की जगह लिप्स चैप्ड नजर आने लगते हैं, जो बिल्कुल भी अच्छे नहीं लगते।

गर्दन पर मेकअप न करना
भारतीय महिलाओं में खासतौर से यह देखा जाता है कि वे बाहर जाने के दौरान फेस पर मेकअप करती हैं लेकिन नेक और ईयर पार्ट को छोड़ देती हैं। ऐसा होने पर उनका चेहरा अलग से ही सफेद नजर आता है क्योंकि उनकी गर्दन का स्किनटोन और फेस की स्किन की रंगत अलग-अलग नजर आती है। यह खूबसूरती बढ़ाने की जगह फनी लुक दे देता है।

मेकअप स्टाइल न बदलना
क्या आप सोच सकती हैं कि आप पुराने दौर की ऐक्ट्रेसेस की तरह मेकअप कर बाहर जाएं? नहीं ना। लेकिन होता यह है कि आमतौर पर महिलाएं एक बार मेकअप करना सीख लें तो वे उसे अपग्रेड और अपडेट करना भूल जाती हैं। हर साल फैशन ही नहीं बल्कि मेकअप स्टाइल भी चेंज होता है, ऐसे में जरूरी है कि अगर आप रोज मेकअप करती हैं तो इससे जुड़े बदलते ट्रेंड का भी ध्यान जरूर रखें।

सही मेकअप न चुनना
आमतौर पर लड़कियां मेकअप का चुनाव इस आधार पर करती हैं कि वह उन्हें बस खूबसूरत दिखाए या ट्रेंड का हिस्सा हो। लेकिन मेकअप चुनने का यह तरीका गलत है। इस तरह का मेकअप कभी भी आपकी सही खूबसूरती को हाइलाइट नहीं कर पाता है। बेहतर है कि आप मेकअप स्पेशलिस्ट के पास जाएं और उनसे अपनी स्किन टोन के बारे में पूछे। आमतौर पर स्किन की Warm या Cool अंडरटोन होती है और इसी के आधार पर फाउंडेशन से लेकर, लिपस्टिक, आईशैडो आदि को चुना जाना चाहिए। ऐसा करने पर ही स्किन को सही मायनों में नैचरल लुक मिल सकेगा।

Source : Agency