नई दिल्ली
निर्भया मामले (Nirbhaya Case) के दोषियों की फांसी से पहले दया याचिकाओं पर सुनवाई के बीच मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने दुष्कर्म के फैसलों में देरी को लेकर सवाल उठाया है. बुधवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में निर्भया मामले के दोषी मुकेश की याचिका पर सुनवाई के बीच शिवराज ने एक के बाद एक लगातार कई ट्वीट कर ऐसे अपराधों के लिए कानून में बदलाव करने की मांग की. यही नहीं, शिवराज ने निर्भया मामले में फांसी की सजा पर तुरंत कार्रवाई करने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि कानूनी दांव-पेंच के चलते ही लोग हैदराबाद एनकाउंटर (Hyderabad Encounter) पर खुशियां मनाते हैं.

आपको बता दें तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में चार आरोपियों ने एक वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप (Hyderabad Gang Rape) किया और फिर जला कर उसकी हत्या कर दी थी. हैदराबाद की वारदात के बाद देशभर में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे. इसके बाद पुलिस ने एक कथित मुठभेड़ में चारों आरोपियों को मार गिराया था. यह मुठभेड़ चट्टनपल्ली इलाके में तब हुई जब जांच के दौरान पुलिस चारों आरोपियों को मौका-ए-वारदात पर लेकर गई थी. उसी दौरान आरोपियों ने कथित तौर पर पुलिसकर्मियों पर हमला कर दिया था. एक तरफ देशभर में जहां इस एनकाउंटर को लोगों ने समर्थन दिया था, वहीं मानवाधिकार आयोग और अदालत ने इसको लेकर पुलिस पर सवाल भी उठाए थे.

Source : Agency