फिरोजाबाद

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में बेटी के साथ हुए रेप मामले की पैरवी कर रहे पिता की गोली मारकर हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. बुधवार रात इस वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावर फरार हो गया. हमलावर की पहचान आचमन शर्मा के रूप में हुई है. इस घटना के सामने आने के बाद फिरोजाबाद के एसएसपी सचिंद्र पटेल ने तीन पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया है.

मृतक के भाई ने बताया कि हमलावर आचमन शर्मा ने पहले मृतक की बेटी से रेप किया था. उस पर पिछले पांच महीने से मुकदमा चल रहा था. आचमन शर्मा ने रेप पीड़िता के पिता को उस समय गोली मारी, जब वो सोमवार रात को घर वापस आ रहे थे. रेप पीड़िता के पिता को फौरन सरकारी ट्रामा सेंटर ले जाया गया. हालांकि उनको बचाया नहीं जा सका.

डॉक्टरों के मुताबिक रेप पीड़िता के पिता की गोली लगने के तुरंत बाद ही मौत हो चुकी थी. इस पूरी वारदात का एक पहलू शिकोहाबाद से भी जुड़ा है, क्योंकि शिकोहाबाद में मृतक की ससुराल है और उनकी बेटी शिकोहाबाद में अपनी नानी के साथ रहती थी. आरोपी आचमन शर्मा ने शिकोहाबाद में करीब 6 महीने पहले रेप की घटना को अंजाम दिया था.

इसके बाद आरोपी आचमन शर्मा के खिलाफ शिकोहाबाद थाने में भारतीय दंड संहिता यानी आईपीसी और पोस्को एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज कराया गया था. हालांकि 6 महीने बीत जाने के बावजूद आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई थी. पुलिस ने रेप के आरोपी आचमन शर्मा की गिरफ्तारी तब तक नहीं की गई, जब तक उसने रेप पीड़िता के पिता की गोली मारकर हत्या नहीं कर दी.

यह मामला जब सामने आया, तो जिले एसएसपी ने थाना उत्तर इंचार्ज केडी शर्मा, शिकोहाबाद इंचार्ज लोकेंद्र सिंह और कोटला रोड चौकी इंचार्ज अशेष कुमार को निलंबित कर दिया है. मृतक के भाई ने बताया कि हमलावर ने रेप पीड़िता के पिता पर पीछे से हमला किया. फिरोजाबाद के सरकारी ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टर सिद्धार्थ ने बताया कि 50 वर्षीय मृतक की पीठ पर गोली लगी.

Source : Agency