इंदौर
 शाजपुर जिला अस्पताल से रैफर बच्ची ने आखिरकार गुरुवार देर रात दम तोड़ दिया। एक दिन की बच्ची पर किसी ने इतनी बेरहमी से चाकू चलाए थे कि कोई खिलौने के साथ भी ऐसा नहीं करता। एमवायएच में ऑपरेशन के बाद उसे पीडियाट्रिक आईसीयू में वेंटीलेटर पर रखा गया था, जहां उसने आखिरी सांस ली। पोस्टमाॅर्टम के बाद परिजन मासूम को गांव लेकर रवाना हो गए।

जानकारी के अनुसार, 11 फरवरी को प्रसूता ने बच्ची को जन्म दिया और 12 फरवरी को किसी ने उस पर चाकू से 5-6 वार किए, जिसे नवजात सह नहीं पाई। एमवायएच में उसका ऑपरेशन भी किया गया। आंत का एक हिस्सा भी निकाला गया, लेकिन डॉक्टर्स बचा नहीं पाए। सांसों के लिए वह पल-पल वेंटीलेटर पर संघर्ष करती रही और दुनिया से चली गई।

माता-पिता सिर्फ यही कह रहे कि उन्हें नहीं पता किसने मारा
एक दिन की बच्ची को इतनी बेरहमी से किसी ने मारा, लेकिन माता-पिता नकार रहे हैं। अस्पताल से जब डिस्चार्ज किया तब तक वह ठीक थी, लेकिन घर आने के बाद उसकी यह हालत हो गई। उधर, शाजापुर पुलिस ने भी बच्ची के घायल होने की जानकारी मिलने पर अज्ञात के खिलाफ 307 के तहत प्रकरण दर्ज किया है। अब बच्ची की मौत हो चुकी है।

 

Source : Agency