इंदौर
 मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बीजेपी के इन तमाम बयानों के बीच कि सरकार अल्पमत की है ,कभी भी गिर सकती है, कांग्रेस कमजोर है एक बार फिर कमाल कर दिखाया है। इंदौर के राऊ में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री की मौजूदगी में बीजेपी के बड़े नेता शंकर यादव ने कमलनाथ के सामने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। चार बार के पार्षद और एमआईसी मेंबर रहे शंकर यादव पूर्व महापौर और वर्तमान बीजेपी विधायक मालिनी गौड़ के दाएं हाथ माने जाते हैं। उनके कांग्रेस में जाने से बीजेपी को बड़ा झटका लगा है।

दरअसल इस बात के कयास काफी दिन से चल रहे थे कि शंकर यादव कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। मंत्री जीतू पटवारी इसमें मध्यस्थता कर रहे थे और उनकी एक मुलाकात कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से पहले भी करा चुके थे । इस बात की सूचना मिलते ही मालिनी गौड़ ने गुरूवार को पुरजोर कोशिश की थी कि शंकर यादव बीजेपी छोड़कर नहीं जाए, लेकिन उनके सारे प्रयास असफल रहे और शंकर यादव अंततः कांग्रेस के हो गए। शंकर यादव के साथ-साथ बीजेपी के एक वरिष्ठ अल्पसंख्यक नेता उस्मान पटेल ने भी कांग्रेस जॉइन की है।

 

Source : Agency