भोपाल
मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री कमलनाथ सेल्‍फ आइसोलेशन में नहीं गए हैं। भोपाल की एक पत्रकार के कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए जाने के बाद, रिपोर्ट्स थीं कि कमलनाथ एकांतवास में चले गए हैं। हालांकि पार्टी ने इसका खंडन किया है। कांग्रेस के मीडिया-कोऑर्डिनेटर नरेंद्र सलूजा ने कहा कि 'पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ कोरोना से बचाव को लेकर पूर्ण सावधानी बरत रहे हैं। वह सुरक्षा के निर्देशों व नियमों का पूरा पालन कर रहे हैं। प्रदेश के सभी स्थानो की जानकारी ले रहे हैं। प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य को लेकर चिंतित भी हैं। लोगों से जागरूक रहने की व सावधानी बरतने की अपील भी कर रहे हैं। लोगों से मुलाकात भी कर रहे है। ऑफिस में काम भी कर रहे हैं।'

लंदन से भोपाल लौटी थी महिला
भोपाल के मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी सुधीर डेहरिया के मुताबिक, भोपाल में कोरोना वायरस का नया मरीज 26 वर्षीय महिला के पिता हैं, जो 18 मार्च को लंदन से भोपाल वापस लौटी थीं और शहर में कोरोना वायरस संक्रमण की पहली मरीज हैं। महिला और उसके पिता के अलावा इनके परिवार के अन्य सदस्यों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इसके साथ ही भोपाल में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या दो हो गई है और दोनो एक ही परिवार के हैं।

इंदौर से भी सामने आए मामले
बुधवार को इंदौर के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती दो महिलाओं समेत पांच मरीजों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। इनमें से चार इंदौर के रहने वाले हैं, जबकि एक उज्जैन की है। इंदौर और उज्जैन में कोरोना संक्रमण के मरीज सामने आने के बाद जिला प्रशासन ने दोनों शहरों में कर्फ्यू लगा दिया है। इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जड़िया ने PTI को बताया, ‘‘शहर के अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती दो महिलाओं समेत पांच मरीजों (चार इंदौर के और एक उज्जैन के) में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें से किसी भी मरीज ने पिछले दिनों विदेश यात्रा नहीं की थी। यानी वे देश के भीतर ही इस घातक बीमारी की जद में आये हैं।’’

कोई नहीं गया था विदेश
कोरोना वायरस की चपेट में आये मरीजों में शामिल 65 वर्षीय महिला पड़ोसी उज्जैन जिले की रहने वाली हैं, लेकिन उनका इलाज इंदौर के शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय में चल रहा है। कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए चार अन्य मरीज इंदौर के ही अलग-अलग इलाकों में रहते हैं। इनमें 50 वर्षीय महिला, 48 वर्षीय पुरुष, 68 वर्षीय पुरुष और 65 वर्षीय पुरुष शामिल हैं। ये मरीज शहर के दो निजी अस्पतालों में भर्ती हैं। इन पांचों मरीजों में से किसी ने भी पिछले दिनों विदेश यात्रा नहीं की थी। इनमें शामिल दो पुरुष मरीज आपस में मित्र हैं जो इसी महीने साथ में वैष्णोदेवी की तीर्थ यात्रा पर गये थे और हाल ही में लौटे हैं।

सात जिलों में कर्फ्यू
सूबे में अब तक कोरोना वायरस के मामलों की पुष्टि वाले सात जिलों भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, शिवपुरी, उज्जैन और छतरपुर जिलों में कर्फ्यू लगाया गया है। छतरपुर जिले में कोरोना वायरस संक्रमण का कोई मरीज नहीं मिला है लेकिन ग्वालियर के कोरोना वायरस संक्रमित मरीज ने खजुराहो (छतरपुर) की यात्रा की थी इसलिए छतरपुर जिले के राजनगर और खजुराहो में कर्फ्यू लगाया गया है।

Source : Agency