देवदर 
गुजरात विधान सभा चुनाव के नतीजों ने साफ कर दिया है कि गुजरात में बीजेपी छठी बार सरकार बनाने जा रही है लेकिन गुजरात सरकार के कई मंत्री अपनी सीट बचाने में नाकाम रहे हैं. गुजरात सरकार के 4 मंत्रियों को चुनाव में शिकस्त का सामना करना पड़ा है. बीजेपी की ओर से हारने वाले बड़े नामों में गुजरात सरकार में सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रहे केशाजी ठाकोर दीयोदेर सीट से, गढ्डा सीट से सामाजिक न्यायमंत्री आत्माराम परमार बोटाद, सोमनाथ से जल आपूर्ति मंत्री जशा बारड़ और कृषि मंत्री चिमन सापरीया का नाम शामिल है.


स्वास्थ्य मंत्री शंकर चौधरी

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री शंकर चौधरी को वाव सीट से हार का सामना करना पड़ा. शंकर चौधरी को कांग्रेस की जेनीबेन नागाजी ठाकोर ने करीबी मुकाबले में 5500 से ज्यादा वोट से शिकस्त दी. वाव विधानसभा सीट से जेनीबेन को 99905 वोट मिले जबकि शंकर चौधरी को 93057 वोट मिले. एक जमाने में ये सीट कांग्रेस का गढ़ मानी जाती थी. पिछले दो बार से बीजेपी यहां जीत रही है. 2007 में बीजेपी के प्रभात पटेल ने ये सीट निकाली थी. फिर 2012 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने शंकरभाई चौधरी को टिकट दिया. वो कामयाब भी रहे. फिर जब सरकार बनी तो उन्हें मंत्री पद भी मिला.

सामाजिक न्याय राज्यमंत्री केशाजी

गुजरात सरकार में सामाजिक न्याय राज्यमंत्री केशाजी को भी हार का सामना करना पड़ा है. देवदर विधानसभा सीट से बीजेपी के केशाजी शिवाजी चौहान और कांग्रेस के शिवाभाई भूरिया मैदान में थे. यहां दो बार से यहां लगातार बीजेपी जीत रही है. जबकि कांग्रेस को यहां जीत का स्वाद चखे हुए तीन दशक हो गए. 1985 में आखिरी बार यहां कांग्रेस उम्मीदवार को जीत मिली थी.

जल आपूर्ति मंत्री जशाभाई बाराड

जल आपूर्ति मंत्री जशाभाई बाराड अपनी सोमनाथ सीट नहीं बचा पाए. जशाभाई कांग्रेस उम्मीदवार विमल चुडासमा के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा है. 2012 के विधानसभा चुनाव में इस सीट से कांग्रेस के जशाभई बाराड ने चुनाव जीता था. वहीं, 2007 में इस सीट से बीजेपी के राजसी जेठवा चुने गए थे. इस सीट के लिए राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों ने ही प्रचार किया था.

कृषि मंत्री चिमन सापरीया

जमजोधपुर सीट पर बीजेपी के प्रत्याशी चिमनभाई सापरिया, कांग्रेस के प्रत्याशी चिराग कालरिया और बीएसपी के नरिया प्रवीणभाई चुनावी मैदान पर थे. इस सीट पर कांग्रेस के चिरागभाई रमेशभाई कालरिया ने जीत दर्ज की है. चिराग कालरिया ने 63735 वोट पाकर कृषिमंत्री चिमनभाई सापरिया को हराया है. चिमनभाई सापरिया को 61279 मिले हैं.

Source : Agency