नई दिल्ली
बीजेपी का केंद्रीय कार्यालय अशोक रोड से डीडीयू मार्ग पर शिफ्ट होने के बाद ट्रैफिक पुलिस की टेंशन बढ़ गई है। अगले साल लोकसभा चुनाव भी हैं, ऐसे में बीजेपी दफ्तर के यहां आने से डीडीयू मार्ग पर वीवीआईपी मूवमेंट भी काफी बढ़ जाएगा। इसके चलते नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने वालों को काफी दिक्कत पेश होने वाली है। ट्रैफिक पुलिस ने डीडीए के तहत काम करने वाली एक्सपर्ट बॉडी यूटीपैक (यूनिफाइड ट्रैफिक ऐंड ट्रांसपॉर्टेशन इन्फ्रास्ट्रक्चर - प्लैनिंग ऐंड इंजिनियरिंग - सेंटर) को चिट्ठी लिखकर सुझाव मांगे हैं कि डीडीयू मार्ग पर बढ़ने वाले कंजेशन को कैसे कम किया जा सकता है।

ट्रैफिक पुलिस को मंडी हाउस, आईटीओ, तिलक मार्ग जैसे प्रमुख इलाकों में वीआईपी रूट भी लगाना पड़ेगा, जिसका आम ट्रैफिक पर बहुत असर पड़ेगा। बीजेपी दफ्तर के अलावा कई और नए सरकारी दफ्तर भी इसी रोड पर शिफ्ट होने वाले हैं। आम आदमी पार्टी और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमिटी का ऑफिस पहले से इसी रोड पर है। ऐसे में आने वाले समय में डीडीयू मार्ग पर ट्रैफिक बढ़ने की आशंका को भांपते हुए ट्रैफिक पुलिस अभी से सचेत है।

जॉइंट कमिश्नर (ट्रैफिक) गरिमा भटनागर के मुताबिक, ट्रैफिक पुलिस पहले से ही इसे लेकर अपनी चिंता संबंधित अथॉरिटीज के सामने जाहिर कर चुकी है। डीडीयू मार्ग समेत आस-पास के अन्य इलाकों में ट्रैफिक को आने वाले समय में और बेहतर तरीके से कैसे मैनेज किया जा सकता है और डायवर्जन की नौबत आने पर ट्रैफिक को कहां डायवर्ट किया जाएगा, इन सब पहलुओं पर गौर किया जा रहा है। इसके लिए यूटीपैक को एक स्टडी करने के लिए कहा गया है। यूटीपैक से जो भी सुझाव मिलेंगे, उन पर ट्रैफिक पुलिस अमल करेगी।

अजमेरी गेट की तरफ से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने वाले लोगों की मुसीबतें आने वाले दिन में बढ़ने वाली हैं। आमतौर पर ईस्ट व नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली और साउथ व सेंट्रल दिल्ली के कुछ इलाकों में रहने वाले लोग अजमेरी गेट की तरफ से ही नई दिल्ली रेलवे स्टेशन आते-जाते हैं, क्योंकि कनॉट प्लेस होते हुए जाने में भीड़भाड़ ज्यादा मिलती है और उस रूट पर कई ट्रैफिक सिग्नल भी लगे हुए हैं, जिसके चलते लोगों को रेड लाइट में फंसने का डर रहता है। अभी आईटीओ पार करने के बाद डीडीयू मार्ग के रास्ते लोग बेहद आसानी से और कम समय में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंच जाते हैं, क्योंकि इस रूट पर सड़क चौड़ी और अच्छी है और ट्रैफिक भी ज्यादा नहीं रहता है, लेकिन अब इस रास्ते से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाना भी मुश्किल होने वाला है।

डीडीयू मार्ग जल्द ही तीन प्रमुख राजनीतिक पार्टियों का हब बनने वाला है। आम आदमी पार्टी का केंद्रीय कार्यालय और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमिटी का ऑफिस तो पहले से ही इसी रोड पर था। अब रविवार से बीजेपी का केंद्रीय कार्यालय भी डीडीयू मार्ग पर नई इमारत में शिफ्ट हो गया है। इसके चलते ट्रैफिक पुलिस की टेंशन भी और बढ़ गई है, क्योंकि अब बीजेपी के तमाम पदाधिकारी इसी इमारत में बैठेंगे और सारी अहम मीटिंग्स और कार्यक्रम भी यहीं हुआ करेंगे। जल्द ही 2019 के आम चुनाव भी होने वाले हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी बीजेपी की बैठकों में हिस्सा लेने के लिए अकसर आया करेंगे। इसके लिए ट्रैफिक पुलिस को वीआईपी रूट भी लगाना पड़ेगा। राजनाथ सिंह, अमित शाह, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, लालकृष्ण आडवाणी जैसे पार्टी के अन्य बड़े नेताओं के यहां आते-जाते वक्त भी ट्रैफिक पुलिस को रूट क्लियर रखना होगा, क्योंकि इन सब नेताओं को कड़ी सुरक्षा मिली हुई है। देशभर से पार्टी के तमाम नेता और कार्यकर्ता व अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री भी अब यहीं आया करेंगे। ऐसे में बीजेपी दफ्तर के बाहर आने वाले समय में काफी रश रहा करेगा और अंदर केवल स्पेशल पार्किंग लेवल लगी गाड़ियों को ही एंट्री मिलेगी, जिससे रोड साइड पार्किंग की समस्या भी बढ़ेगी। इन सब चीजों को मैनेज करना ट्रैफिक पुलिस के लिए आसान नहीं होगा और इससे नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने वालों की भी मुसीबतें बढ़ेंगी।

कांग्रेस पार्टी का केंद्रीय कार्यालय भी बीजेपी के दफ्तर के पास ही शिफ्ट होने की संभावना है। उसके लिए यहां लैंड भी अलॉट हो चुकी है। आम आदमी पार्टी का दफ्तर भी कहीं और शिफ्ट होने की संभावना नहीं है। ऐसे में अगले साल होने वाले आम चुनावों के दौरान आम आदमी पार्टी की सारी गतिविधियां भी यहीं से चलेंगी। इतना ही नहीं, जल्द ही दिल्ली के सभी 6 जिलों की सीबीआई कोर्ट्स और कंज्यूमर कोर्ट्स भी डीडीयू मार्ग स्थित नई इमारत में शिफ्ट होने वाली हैं, जिसके कारण कोर्ट में आने-जाने वालों का रश भी यहां बढ़ेगा। सीएजी ऑफिस और डीडीयू मार्ग पर बनाए गए केंद्र सरकार के अफसरों के फ्लैट्स के चलते भी इस रोड पर ट्रैफिक बढ़ रहा है। इसे देखते हुए ट्रैफिक पुलिस की परेशानी और बढ़ गई है।

जॉइंट कमिश्नर (ट्रैफिक) गरिमा भटनागर का कहना है कि ट्रैफिक पुलिस पहले से ही इसे लेकर अपनी चिंता संबंधित अथॉरिटीज के समाने जाहिर कर चुकी है। डीडीयू मार्ग समेत आसपास के अन्य एरिया में ट्रैफिक को आने वाले समय में और बेहतर तरीके से कैसे मैनेज किया जाएगा और डायवर्जन की नौबत आने पर ट्रैफिक को कहां डायवर्ट किया जाएगा, इन सब पहलुओं पर गौर किया जा रहा है। ट्रैफिक पुलिस ने पीडब्लूडी से भी मीर दर्द रोड को और चौड़ा करने के लिए कहा है। साथ ही कोटला रोड, मीर दर्द र

Source : Agency