उज्जैन
देश भर में रविवार और सोमवार दो दिन तक जन्माष्टमी की धूम रहेगी. इसी क्रम में श्री कृष्ण के जन्मोत्सव को मनाने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उज्जैन के संदीपनी आश्रम पंहुच रहे हैं. संदीपनी आश्रम वही आश्रम है, जहां रहकर श्री कृष्ण भगवन ने 64 कलाओं का ज्ञान अर्जित किया था, कृष्ण की शिक्षा स्थली पर अष्टमी की तैयारी जोरों पर हैं. पूरे मंदिर को नारियल और रंग बिरंगे कपड़ों से सजाया जा रहा है.

उज्जैन में तीन बड़े कृष्ण के मंदिर हैं, पहला संदीपनी आश्रम जहां भगवान कृष्ण ने गुरु संदीपनी से ज्ञान अर्जित किया था और अपने सखा सुदामा और भाई बलराम के साथ उज्जैन में रहे थे. दूसरा मंदिर गोपाल मंदिर है आदि-अनादि काल से है और सिंधिया राज घराना इसकी देखभाल करता है. और तीसरा अन्तराष्ट्रीय संस्था का इसकोन मंदिर, तीनो ही जगह बड़े धूम धाम से कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है.

पहले दिन रात में संदीपनी आश्रम में अष्टमी मनाई जाएगी जिसकी तैयारी जोरों पर है, इसके लिए मंदिर को सजा दिया गया है, साथ ही नारियल और अलग रंग बिरंगे कपड़ों से सजावट मंदिर में की गई है. इसके बाद दूसरे दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु उज्जैन पंहुचकर संदीपनी आश्रम में दर्शन करेंगे.

संदीपनी आश्रम में देर रात 12 बजे कृष्ण आरती भी की जाएगी जिसके बाद सुबह से श्रधालुओं के दर्शनों का सिलसिला चलता रहेगा, वहीं इस्कोन मंदिर को भी रोशनी से सजा दिया गया है.

Source : Agency