भोपाल। भिंड में  पुलिस ने बीजेपी विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह के बेटे पुष्पेंद्र सिंह को हिरासत में ले लिया। उनके साथ करीब 6-7 और लोगों को पकड़ा गया है. ये लोग भिंड में रैली निकाल रहे थे। पुष्पेंद्र की गिरफ़्तारी की ख़बर फैलते ही विधायक के सैकड़ों समर्थक थाने पहुंच गए और घेराव कर दिया।

ग्वालियर-चंबल संभाग में सुबह से ही बंद का व्यापक असर दिखाई दे रहा है. पूरे इलाके में बाज़ार-दुकानें, स्कूल-कॉलेज सब बंद है। बंद को लोग स्वेच्छा से समर्थन दे रहे हैं।

ग्वालियर में अप्रैल में हुए बंद से सबक लेते हुए प्रशासन ने 11 सितंबर तक सबके शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं। धरना-प्रदर्शन रैली पर रोक है। पुलिस जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ पेट्रोलिंग कर रही है. PHQ के निर्देश के बाद हर जिले में फिक्स पॉइंट लगाए गए हैं। यहां पूरे संभाग में स्कूल, बाजार और पेट्रोल पंप बंद हैं। पूरे ग्वालियर शहर में सुरक्षा के भारी इंतज़ाम हैं. शहर में 1500 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। ज़िला पुलिस बल, STF, SAF और QRT टीमें तैनात की गयी हैं।

भिंड में बाज़ार पूरी तरह से बंद हैं। लोगों ने अपनी दुकानों के बाहर पर्चे लगाए हैं कि मैं सामान्य वर्ग का हूं अपने प्रतिष्ठान स्वेछा से बंद रखूंगा। यहां चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है। पुलिस की गाड़ियां लगातार पेट्रोलिंग कर रही हैं। एसपी और एसएसपी पूरे ज़िले पर नज़र बनाए हुए हैं।

शिवपुरी में एससी एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में भारत बंद को लेकर बाज़ार पूरी तरह बंद हैं। मुरैना में भी बंद को भारी समर्थन मिल रहा है। यहां मौसम बेहद ख़राब है। सुबह से बारिश हो रही है। भारत बंद के कारण सुबह खुलने बाली चाय नाश्ते की दुकानें आज नहीं खुलीं। व्यापारियों ने स्वेच्छा से अपनी दुकानें बंद रखी हैं।

एस टी एक्ट में संशोधन के विरोध में दतिया भी पूरी तरह बंद है। हालांकि यहां बाज़ार बंद करवाने के लिए कोई संगठन सामने नहीं आया है। जगह जगह पुलिस बल तैनात है. निजी स्कूलों ने स्वेच्छा से छुट्टी रखी है। गुना में सवर्ण संगठन प्रताप छात्रावास से रैली निकालेंगे। यहां किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिये पुलिस ने कमर कस ली है।

श्योपुर में एससीएसटी एक्ट के विरोध में बंद को लेकर पुलिस चौकन्नी है. रोजाना सुबह 6 बजे खुलने वाली चाय-नाश्ते की दुकानें भी है स्वेच्छा से बंद हैं। यहां भी सपाक्स की रैली है। अशोकनगर में एससी-एस टी एक्ट में संशोधन के विरोध में बाजार बंद हैं। यहां निजी स्कूल,सरकारी स्कूल,प्रतिष्ठान सभी पूरी तरह बंद हैं।

गुना में जिला प्रशासन लगातार धारा 144 लागू होने की घोषणा कर रहा है। यहां सुरक्षा में पुलिस , वन विभाग, नगर रक्षा समिति, होमगार्ड्स सैनिक लगाए गए हैं।
 

Source : desk