भोपाल
मुरैना में डिप्टी रेंजर सुबेदार सिंह की हत्या के का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। सरकार पर अवैध उत्खनन और माफियाओं को संरक्षण देने के आरोप लग रहे है। चुनावी साल में एक बार फिर सरकार अवैध खनन के मामलों को लेकर घिर गई है। ऐसे में एक बार फिर विपक्ष ने सरकार पर हमला बोलते हुए सरकारी नौकरी देकर डिप्टी रेंजर की हत्या करने वालों को बचाने के आरोप लगाए है। ये आरोप नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने लगाए है। उन्होंने कहा है कि जिस ट्रेक्टर से मुरैना जिले में डिप्टी रेंजर सूबेदार सिंह कुशवाहा को कुचल कर मार डाला गया उस रेत माफिया को सरकार के निर्देश पर पुलिस द्वारा बचाया जा रहा है और इसके लिए प्रत्यक्षदर्शियों को डराया-धमकाया जा रहा है।  मुआवजा, सरकारी नौकरी, सड़क-भवन का नामकरण की घोषणा कर अब शिवराज सरकार हत्या के असली अपराधियों को बचाने में जुट गई है।

बता दे कि शनिवार को मुख्यमंत्री ने रेत माफिया के हमले में मारे गए मुरैना के डिप्टी रेंजर सूबेदार सिंह कुशवाह को शहीद का दर्जा देते हुए उनके परीजनों को एक करोड़ रुपए की सहायता राशि और एक परिजन को सरकार नौकरी देने की घोषणा की थी।

सिंह ने कहा कि जिस तरह मुख्यमंत्री के रथ पर कथित पत्थर फेंकने की घटना के बाद सरकार के निर्देशों पर पुलिस द्वारा झूठी कहानी गढ़ी गई। उसी तरह अब डिप्टी रेंजर की हत्या के असली आरोपियों को बचाने पुलिस उच्च स्तर के निर्देश पर उस ट्रेक्टर की कंपनी को ही बदल रही है जिससे सूबेदार सिंह की हत्या हुई।  शिवराज सरकार ने मध्यप्रदेश में मौत के मुआवजा की एक नई योजना स्थापित की है जिसमें अपराधियों, माफियाओं और सरकारी गलतियों से पहले निर्दोष लोगों की हत्या करवाकर फिर उन्हें मुआवजा, नौकरी और उनके नाम से स्मारक बनवाकर अपने चेहरे पर लगी कालिख ही ढांक ली।

सिंह ने कहा कि शिवराज सरकार के राज में लोगों का जीवन सस्ता और उनकी मौत की बोली लगाने का असंवेदनशील खेल चल रहा है।आईएएस अफसर दीपक सक्सेना ने अपने फेसबुक पोस्ट पर ‘‘आखिर हम कब तक चुप रहेंगे। कानून का राज महसूस होने और दिखाने की जिम्मेदारी हमारी है। आंच अब हमारे घर तक आ गई है।’’  टिप्पणी लिखकर शिवराज सरकार का असली चेहरा दिखाकर करारा तमाचा मारा है।

सिंह ने पिछले 14 साल में रेत माफियाओं में सरकार ने भाजपा सरकार को अपने कदमों पर ला खड़ा किया है। वह उन्हें उनके तंत्र को रौंदती है और सरकार उन्हें अपने सराखों पर बिठाकर उन्हें पूरा संरक्षण दे रही है।सूबेदार कुशवाहा के परिवार को तब न्याय मिलेगा जब उनकी हत्या के असली अपराधी को सजा मिले लेकिन सरकार उसी हत्यारे को बचाने का प्रयास कर रही  है।

Source : Agency