नई दिल्ली 

भारत और वेस्ट इंडीज के बीच वनडे सीरीज का पहला मुकाबला आज (रविवार) गुवाहाटी में खेला जाना है। विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया का फोकस टेस्ट सीरीज की तरह ही इस सीरीज में शानदार प्रदर्शन करना है। इसके अलावा विराट भी स्पेशल क्लब में शामिल हो सकते हैं और दिग्गज सचिन तेंडुलकर को पछाड़ सकते हैं।  
 
टेस्ट सीरीज के दोनों मैच 3-3 दिन में जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम वनडे में भी कमाल करने के इरादे से उतरेगी। विराट की कप्तानी में भारतीय टीम की बैटिंग और बोलिंग मजबूत दिख रही है जबकि कैरेबियाई टीम क्रिस गेल, इविन लुइस, ड्वेन ब्रावो, सुनील नरेन, आंद्रे रसेल जैसे दिग्गजों के बगैर कमजोर दिख रही है। मिडल ऑर्डर को मजबूती देने के लिए टेस्ट सीरीज में बढ़िया प्रदर्शन करने वाले युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत को वनडे डेब्यू करने का मौका दिया जा सकता है। 

स्पेशल क्लब से जुड़ेंगे विराट 
विराट कोहली वनडे मैचों में 10,000 रन पूरे करने से 221 रन दूर हैं। कोहली के वनडे मैचों में 9779 रन हैं। भारत की ओर से वनडे मैचों में 10,000 या इससे ज्यादा रन सचिन तेंडुलकर, सौरभ गांगुली, राहुल द्रविड़ और महेंद्र सिंह धोनी ने बनाए हैं। विराट सबसे कम वनडे पारियों में 10 हजार रन पूरा करने का रेकॉर्ड बना सकते हैं जो फिलहाल सचिन (259 पारियों) के नाम दर्ज है। विराट ने फिलहाल 211 वनडे में 203 पारियों में बल्लेबाजी की है। 

यही नहीं सीरीज में 186 रन बनाने पर विराट, भारत की ओर से वेस्ट इंडीज के खिलाफ सबसे ज्यादा वनडे रन बनाने वाले बैट्समैन भी बन जाएंगे। अभी यह रेकॉर्ड सचिन तेंडुलकर (1573) के नाम है। 

धोनी पर नजरें

इस सीरीज में अनुभवी बल्लेबाज और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी खुद को साबित करना चाहेंगे जो एशिया कप के दौरान संघर्ष करते नजर आए थे। धोनी ने एशिया कप के चार मैचों में केवल 77 रन ही बनाए थे। ऋषभ पंत के आ जाने से धोनी पर अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव बढ़ता जा रहा है। धोनी ने वैसे वेस्टइंडीज के खिलाफ 33 वनडे मैचों में 60 के शानदार एवरेज से 899 रन बनाए हैं जिसमें 7 हाफ सेंचुरी शामिल हैं। 

Source : Agency