नयी दिल्ली
भारत की टेनिस खिलाड़ी करमन कौर थंडी को रविवार को चीन के नानिंग में 25000 डालर इनामी आईटीएफ प्रतियोगिता के फाइनल में शिनयुन हैन के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा। सत्र के अपने दूसरे फाइनल में खेल रही करमन को स्थानीय खिलाड़ी के खिलाफ 4-6 6-2 4-6 से शिकस्त झेलनी पड़ी। इस हार के बावजूद भारतीय खिलाड़ी के लिए यह हफ्ता शानदार रहा जिसमें उन्होंने फाइनल के अपने सफर के दौरान शीर्ष 200 में शामिल तीन खिलाड़ियों को हराया। उन्होंने यूलिया ग्लुश्को (123), केटी स्वान (163) और कैरोल झाओ (189) को हराया। करमन ने नानिंग से पीटीआई से कहा, ‘‘अपने से बेहतर रैंकिंग वाली खिलाड़ियों को हराकर मैं प्रेरित महसूस कर रही थी। सभी मैच काफी जानदार थे। प्रत्येक मैच और प्रत्येक अंक पर मैंने अपना शत प्रतिशत दिया। बेशक मैं अंतिम नतीजे से संतुष्ट नहीं हूं। इस मैच में प्रतिस्पर्धा काफी अच्छे स्तर की थी।’’ दिल्ली की इस 20 साल की खिलाड़ी ने इस स्तर पर अपना पहला खिताब जून में हांगकांग में जीता था और साथ ही तीन टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जगह बनाई। करमन अब डब्ल्यूटीए मुंबई ओपन में चुनौती पेश करेंगी।

Source : Agency