7 नवंबर कार्तिक कृष्ण अमावस्या तिथि को दीपावली का त्योहार मनाया जाएगा। इस साल दीपावली पर ग्रहों की विशेष स्थिति से 7 साल के बाद ऐसा संयोग बना है जो धन, समृद्धि और सुख में वृद्धि करने वाला है।

दिवाली 7 अंक का संयोग
इस साल राशिचक्र की 7वीं राशि तुला में 7 साल बाद तीन ग्रह सूर्य, शुक्र और चंद्रमा तीनों ग्रह एक साथ मौजूद होंगे। संयोग की बात यह भी है कि दीपावली के दिन तारीख भी 7 है। अंकज्योतिष के अनुसार अंकों का यह संयोग मूलांक 7 वालों के लिए बहुत ही शुभ। जिन लोगों का जन्म 7 तारीख को हुआ है उनके लिए यह दिवाली बहुत ही शुभ है।

दिवाली पर ऐसे बना लक्ष्मी योग
ज्योतिषशास्त्र के अनुसार शुक्र तुला राशि का स्वामी हैं और यह सुख, समृद्धि एवं वैभव प्रदान करने वाले ग्रह हैं। इनके साथ चंद्रमा और सूर्य की स्थिति होने से लक्ष्मी योग बनता है। जो बहुत ही दुर्लभ योग है। इस वर्ष तुला राशि में ऐसा ही योग बन रहा है।

कालपुरुष की कुंडली में चंद्रमा चौथे घर का स्वामी और सूर्य पांचवें एवं शुक्र सातवें यानी साझेदारी, दाम्पत्य सुख, विदेश से लाभ का कारक ग्रह है। जमा धन और संपत्ति का कारक भी शुक्र है। ऐसे में इन तीनों ग्रहों का संयोग भौतिक समृद्धि प्रदान करने वाला माना गया है।

दिवाली लक्ष्मी योग का लाभ
कालपुरुष की कुंडली की गणना के अनुसार इस साल दिवाली के दिन तुला राशि में नीच का होकर भी सूर्य अपनी उच्च राशि तथा लग्न स्थान मेष को देख रहा होगा जिससे यह स्वास्थ्य वृद्धि कारक होगा। इस साल शुभ मुहूर्त में देवी लक्ष्मी की पूजा करने से आरोग्य सुख की प्राप्ति के साथ, भौतिक समृद्धि एवं मानसिक और आत्मिक बल प्राप्त होगा।

दिवाली शुभ मुहूर्त अमृत योग
दिवाली के दिन अमृत काल सुबह 10 बजकर 54 मिनट से लेकर 12 बजकर 29 मिनट तक होगा। इस समय व्यापार एवं धन वृद्धि के लिए किया गया काम सफल होगा। अगर आप धनतेरस के दिन वाहन और दूसरी पसंदीदा चीजों की खरीदारी नहीं कर पाते हैं तो इस समय के दौरान खरीदारी करना शुभ रहेगा।

 

Source : Agency