पैरिस
नोवाक जोकोविच के लगातार 22 जीत का सिलसिला रविवार को रुक गया। पैरिस मास्टर्स के फाइनल में रूस के 22 साल के कारेन खाचनोव ने उन्हें सीधे सेटों में 7-5, 6-4 से हरा दिया। अगर जोकोविच खिताब जीतने में सफल रहते तो राफेल नडाल के 33 मास्टर्स की खिताब की बराबरी कर लेते। 

हालांकि एटीपी की सोमवार को जब नई वर्ल्ड रैंकिंग्स जारी होगी, तो वह चोटों से जूझ रहे नडाल की जगह नंबर 1 खिलाड़ी बन जाएंगे। जीत के बाद खाचनोव ने कहा कि सीजन का अंत इस तरह होना किसी सपने के सच होने के जैसा है। 

जोकोविच ने इससे पहले सेमीफाइनल में रोजर फेडरर को हराया था। सर्बियाई खिलाड़ी ने स्विट्जरलैंड के फेडरर को 7-6, 5-7, 7-6 से पराजित किया था। इस हार के साथ फेडरर का 100वां खिताब जीतने का इंतजार भी बढ़ गया। जोको ने फेडरर के खिलाफ अपना रेकॉर्ड अब 25-22 कर दिया है। उन्होंने 2015 से स्विस खिलाड़ी से कोई मैच नहीं गंवाया है। 

Source : Agency