जगदलपुर
चुनाव आते ही जहां विभिन्न् दलों के प्रत्याशियों में जोर आजमाईश जोरों पर है। वहीं टिकट मिलने के बाद जीत के लिए भाग्य प्रबल करने कुछ प्रत्याशी तांत्रिकों, ज्योतिष एवं ताबीज-रत्न आदि का सहारा भी ले रहे हैं। राजनीतिक पाटियों के द्वारा चुनावी प्रचार-प्रसार में तेजी आने के साथ-साथ प्रत्याशियों के द्वारा कई प्रकार की जुगत लगाई जा रही है।

मसलन ग्रामीण मतदाताओं को आकषित करने के लिए बकरा-भात, अन्य प्रकार के प्रलोभन दिए जा रहे हैं। कुछ प्रत्याशी तांत्रिकों व ज्योतिषियों की शरण में भी जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि चुनाव के चलते रत्न, ताबीज और ज्योतिषीय कारोबार में तेजी आ गई है।

सूत्रों ने बताया कि कुछ प्रत्याशी अपनी जीत निश्चित करने सीमावर्ती राज्य ओडिशा के एक स्थान पर जाकर तांत्रिक अनुष्ठान करवा रहे हैं। वहीं कुछ ज्योतिषीय सलाह से अपनी राशि के लिए अनुकूल रत्न धारण कर रहे हैं। नाम नहीं छापने की शर्त पर एक ज्योतिष ने बताया कि उनके यहां काफी लोग सेवाएं लेने पहुंचते हैं।

चुनावी सीजन में कुछ प्रत्याशी भी भाग्योदय के लिए सलाह लेने आ रहे हैं। उनके द्वारा ग्रह दशाओं, अंक ज्योतिषीय गणना, जन्म तारीख व जन्म कुंडली के आधार पर अपने क्लांइट को मार्गदर्शन दे रहे हैं। उन्हें राशिफल के अनुरूप गुरू दशा उच्चतम करने एवं भाग्य प्रबल करने के लिए मूंगा, गोमेद, नीलम, पन्ना आदि रत्न धारण करने की सलाह भी दी जा रही है।

ज्योतिष का यह भी दावा है कि इन्हें धारण करने से प्रत्याशी को मनोवांक्षित परिणाम प्राप्त होंगे। इन सब टोटकों के अलावा चुनाव जीतने के लिए देवी-देवताओं को बकरे की बलि देने व मनोकामना रखने की भी जानकारी मिल रही है।

Source : Agency