भोपाल
भाजपा में 192 सीट पर प्रत्याशी घोषित किए जाने के बाद भी टिकट की दावेदारी करने वाले नेताओं द्वारा नामांकन भरे जा रहे हैं। सबसे चौंकाने वाली स्थिति गुना जिले के बमोरी से सामने आ रही है जहां पार्टी के प्रत्याशी चयन से नाराज पूर्व मंत्री केएल अग्रवाल ने बगावत करते हुए निर्दलीय पर्चा दाखिल करने का फैसला किया है। अग्रवाल ने आज पांच हजार समर्थकों के साथ नामांकन दाखिल किया और पार्टी के उम्मीदवार के विरुद्ध बगावत छेड़ दी है। 

इधर अब तक भरे गए करीब 400 नामांकन में से भाजपा के पौने दो सौ उम्मीदवारों के विरुद्ध भी डेढ़ दर्जन दावेदारों ने भी अपना नामांकन दाखिल किया है। अब पार्टी के स्थानीय नेता और वरिष्ठ पदाधिकारी इन्हें समझाईश देने में जुटे हैं।

जिन सीटों पर पार्टी प्रत्याशी के नामांकन दाखिल करने के बाद भी अब तक नामांकन सामने आए हैं, उसमें भोजपुर विधानसभा सीट से विपिन भार्गव और जोधासिंह अटवाल का नाम है जबकि यहां से सुरेंद्र पटवा घोषित उम्मीदवार हैं। इसी तरह बैतूल में केंदू बाबा राजेंद्र सिंह चौहान, आष्टा में रघुनाथ सिंह, सोनकच्छ में कमल अहिरवार, देवास में विक्रम सिंह पवार, साधना प्रजापति, खरगोन में संजय सोनी, धार में सुरेश चंद्र भंडारी और रतलाम सिटी में गोविन्ददास काकानी ने पार्टी का उम्मीदवार घोषित होने के बाद भी भाजपा से पर्चा दाखिल किया है।

इनके अलावा लखनादौन से अभी सीट घोषित नहीं हुई है पर विजय कुमार उइके ने पर्चा भरा है। रामपुर बघेलान से शुभांगी सिंह, हटा से रामकली, सागर से रामगोपाल यादव, राजकुमार, अशोकनगर से दयालुदास, गुना से कोमल शाक्य, प्रदीप कुमार, सुमावली से रामनारायण ने पार्टी के उम्मीदवार घोषणा के बाद भी भाजपा से नामांकन दाखिल किया है। 

Source : Agency