सिलहट।

ब्रेंडन मावुता और सिकंदर रजा के आपस में बांटे गए सात विकेट की मदद से जिम्बाब्वे ने पहले क्रिकेट टेस्ट में बांग्लादेश को मंगलवार को 151 रन से हराकर पांच साल में पहली जीत दर्ज की। टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने वाले लेग स्पिनर मावुता ने 21 रन देकर चार विकेट लिए जबकि आफ स्पिनर रजा ने 41 रन देकर तीन विकेट चटकाए। बांग्लादेश को चौथे दिन जीत के लिए 321 रन का लक्ष्य मिला था जिसके जवाब में टीम 169 रन पर आउट हो गई। वेलिंगटन मसाकाजा ने भी दो विकेट लिए। मसाकाजा ने आरिफुल हक (38) को पवेलियन भेजकर बांग्लादेश की पारी का समापन किया। पाकिस्तान को 2013 में हरारे में हराने के बाद जिम्बाब्वे की यह पहली टेस्ट जीत है।

जिम्बाब्वे ने 17 साल बाद विदेशी धरती पर जीता टेस्ट मैच
अपनी धरती के बाहर उसने 17 साल बाद कोई टेस्ट जीता है। उसने 2001 में चटगांव में बांग्लादेश को ही हराया था। बांग्लादेश ने बिना किसी नुकसान के 26 रन से आगे खेलना शुरू किया था लेकिन आधे घंटे में उसका पहला विकेट गिर गया। इसके बाद नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे। रजा ने लिटन दास को 23 के स्कोर पर पगबाधा आउट किया। इसके बाद जारविस की गेंद पर मोमिनुल हक भी अपना विकेट गंवा बैठे। रजा ने इमरूल कायेस (43) को पवेलियन भेजा जब स्कोर तीन विकेट पर 83 रन था। कप्तान महमूदुल्लाह बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आए लेकिन 16 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद कोई बल्लेबाज टिककर नहीं खेल सका। दूसरा टेस्ट 11 नवंबर से ढाका में खेला जाएगा।

Source : Agency