भोपाल
विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस के 'गुस्सा आता है' और  ' मामा तो गयो रे' विज्ञापन को चुनाव आयोग ने हरी झंडी दे दी है। बीजेपी ने इस विज्ञापन के खिलाफ आपत्ति जताते हुए आयोग में अपील की थी। आयोग की जांच समिति ने बीजेपी की अपत्ति को खारिज करते हुए कांग्रेस के विज्ञापन से रोक हटा ली है। 

जानकारी के अनुसार मंगलवार को चुनाव आयोग ने बीजेपी की अपील पर कांग्रेस के विज्ञापन पर लगी रोक हटा दी है। 'गुस्सा आता है' और  ' मामा तो गयो रे' कांग्रेस के विज्ञापन पर भड़की बीजेपी ने आयोग में शिकात की थी। इसके बाद आयोग ने कांग्रेस के इस विज्ञापन पर रोक लगी दी थी। लेकिन कांग्रेस आयोग के फैसले के खिलाफ मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वाली कमेटी में अपील की थी। जिसके बाद आज इस विज्ञापन पर फैसला दिया गया है। 

दरअसल, इस विज्ञापन पर आयोग ने रोक लगा दी थी और दूसरे वीडियो विज्ञापन के प्री-सर्टिफिकेशन से भी मना कर दिया था। 'गुस्सा आता है' और  ' मामा तो गयो रे' कांग्रेस के वीडियो में वाक्य का इस्तेमाल किया गया था। जिले लेकर बीजेपी ने आपत्ति जताई थी। इस मामले पर आयोग ने कहा था कि वीडियो में व्यक्तिगत आरोप लगाया जा रहा है। आयोग ने कांग्रेस के दूसरे वीडियो विज्ञापन पर भी रोक लगा दी थी। जिसे लेकर कांग्रेस भड़क गई थी। कांग्रेस ने आयोग के इस रवैये पर सवाल उठाते हुए भेदभाव करने का आरोप लगाया था। 

Source : Agency