अलप्पुझा 

केरल के अलप्पुझा जिले की रहने वाली कार्तियानी अम्मा ने पिछले दिनों 96 वर्ष की उम्र में सरकार द्वारा चलाए जा रहे 'अक्षरलक्षम' साक्षरता मिशन की परीक्षा में 98 प्रतिशत अंक लाकर इतिहास रच दिया था। बुधवार को दिवाली के मौके पर प्रदेश के शिक्षा मंत्री ने उन्हें घर जाकर लैपटॉप देकर सम्मानित किया। बता दें कि परीक्षा में टॉप करने के बाद अम्मा ने कंप्यूटर सीखने की इच्छा जाहिर की थी।  
 
यह परीक्षा इसी साल अगस्त में हुई थी, जिसके नतीजे 31 अक्टूबर को घोषित किए गए थे। बताया जा रहा है कि अम्मा इससे पहले भी कई परीक्षाएं दे चुकी हैं और कई रेकॉर्ड बना चुकी हैं। इस परीक्षा में 80 कैदियों ने भी हिस्सा लिया था। साथ ही अनुसूचित जाति के 2420 अभ्यर्थियों और अनुसूचित जनजाति के 946 अभ्यर्थियों ने भी हिस्सा लिया था। 
 

कार्तियानी अम्मा के बारे में कहा जाता है कि वह 100 साल की उम्र से पहले 10वीं की परीक्षा पास करना चाहती हैं। कुछ महीने पहले ही अक्षरलक्षम मिशन के तहत एक और परीक्षा में अम्मा ने पूरे नंबर हासिल किए थे। 

Source : Agency