तवांग 

भारतीय सेना और चाइना पीपल्स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) ने बुधवार को एक साथ दिवाली मनाई। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि दिवाली का आयोजन भारतीय सेना की तरफ से बुम-ला में किया गया। दिवाली के इस आयोजन में दोनों तरफ के सेना के जवान शामिल हुए। 
 
भारतीय सैनिकों के दल को कर्नल प्रसेनजीत कर ने लीड किया। जबकि पीपल्स लिब्रेशन आर्मी के दल के हेड कर्नल यंग जी मिंग थे। दोनों दलों ने उल्लास से भरे माहौल में एक दूसरे को दिवाली की बधाई थी। इस दृश्य को देखकर जमीनी स्तर पर सैन्य संबंधों को सुधारने के भी संकेत मिले। 

दिवाली के इस आयोजन से पहले यहां लाइटिंग से बॉर्डर चमचमा रहा था। सैनिकों ने दीये जलाए और राष्ट्रीय ध्वज भी फहराया। दोनों दलों की तरफ से इस बात पर बल दिया गया कि वे बॉर्डर और इसके आस-पास शांतिपूर्ण माहौल चाहते हैं। इतना ही नहीं बॉर्डर पर हुए इस मिलन के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए, जिसमें वास्तविक भारत को दर्शाया गया। 

रक्षा मंत्री ने सैनिकों के साथ मनाई दिवाली 
इससे पहले रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने भी चीन-भारत सीमा के निकट अरुणाचल प्रदेश में सुदूर चौकियों में सेना के जवानों के साथ बुधवार को दिवाली का जश्न मनाया। कोहिमा के रक्षा प्रवक्ता कर्नल चिरंजीत कंवर ने बताया कि उन्होंने पहले सीमा के निकट अग्रिम चौकी रोचचाम के लिए उड़ान भरी और इसके बाद अंजॉ जिले में हुलियांग चौकी की यात्रा की। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी भी भारत-चीन सीमा के पास आईटीबीपी के जवानों के साथ बुधवार को दिवाली मनाई। 
 

Source : Agency