खांटी मनिस्क 
भारतीय ग्रैंडमास्टर कोनेरू हम्पी विश्व महिला शतरंज चैम्पियनशिप के दूसरे दौर के दूसरे गेम में पोलैंड की जोलोटा जावाद्का से हार कर टूर्नामेंट से बाहर हो गयी। महिला विश्व चैम्पियनशिप 64 खिलाड़ियों के नाकआउट प्रारूप से शुरू हुई जिसके खिताबी मुकाबले में डी हरिका एकमात्र भारतीय बची है।    हम्पी ने काले मोहरों से पहले गेम में ड्रा खेला। 

दूसरे गेम में हम्पी ने आक्रामक रूख अपनाया लेकिन उनका दाव उलटा पड़ गया और 78 चाल के बाद जावाद्का ने उन्हें हार मानने पर मजबूर कर दिया। हरिका ने दूसरे गेम में जार्जिया की बेला खोतेनाश्विली से ड्रा खेला और अब उनके मुकाबले का फैसला टाई ब्रेकर के जरिये होगा। हरिका पहले गेम काले मोहरों से खेल रही थी लेकिन जीत नहीं सकी। दूसरे गेम में सफेद मोहरों से खेलते हुए उसने अंत तक कोशिश की लेकिन जीत दर्ज नहीं कर सकी। हरिका इस चैम्पियनशिप की दो बार कांस्य पदक विजेता रही है।

Source : Agency