नई दिल्ली

शिवा भले ही अपने 360° गेंद को जायज बता रहे हों, लेकिन पूर्व दिग्गज अंपायर साइमन टॉफेल ने इसे नियम विरुद्ध करार दिया। उन्होंने इस गेंद को जानबूझकर बल्लेबाजों का ध्यानभंग करने वाली हरकत करार दिया है। उन्होंने कहा, 'बल्लेबाजों और गेंदबाजों के रिवर्स ऐक्शन की मंशा में काफी फर्क है। बल्लेबाजों के लिए जहां शॉट लगाना जरूरी होता है वहीं गेंदबाजों के लिए उसी तरह की गेंदबाजी बरकरार रखना जरूरी नहीं होता।' 

 
नियमों के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया, 'अंपायर के पास नियम 20.4.2.1 (अनुचित खेल) और 20.4.2.7 (जानबूझकर ध्यान भंग करना) के तहत इस तरह की गेंद को डेड घोषित करने का अधिकार होता है। उनके पास गेंदबाजों से यह पूछने का भी अधिकार होता है कि ऐसा उन्होंने क्यों किया। क्या उनका मकसद बल्लेबाज का ध्यान भंग करना तो नहीं था। मेरे हिसाब से यह सही नहीं है।' 
 

यूपी के शिव सिंह ने की थी गेंद
बता दें कि यह 'करिश्माई' गेंद उत्तर प्रदेश के शिव सिंह ने फेंकी थी। तब यूपी बंगाल के खिलाफ मैच खेल रही थी। अंपायर के गेंद को डेड बॉल घोषित किए जाने से सिंह हैरान थे। विडियो में उनकी टीम इस बारे में अंपायर से बात करती दिख रही है। इस विडियो ने फैंस के साथ-साथ क्रिकेट के दिग्गजों को भी हैरान किया। पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर माइकल वॉन, भारतीय टीम के पूर्व लेफ्ट आर्म स्पिनर बिशन सिंह बेदी ने इस विडियो को शेयर किया है। 
 
शिव की सफाई
अपनी सफाई में शिव सिंह कहा कहना है कि उन्होंने ऐसी गेंद पहली बार नहीं फेंकी थी। शिव सिंह के मुताबिक, उन्होंने विजय हजारे में भी ऐसी ही गेंद फेंकी थी। शिव सिंह मानते हैं कि जब बल्लेबाज रिवर्स स्वीप लगा सकते हैं तो गेंदबाजों को भी कुछ नया करने का मौका मिलना चाहिए। 

...तो गेंदबाज क्यों नहीं कर सकता ऐसा
सोशल मीडिया पर यह चर्चा चल रही है कि अगर बल्लेबाज को स्विच हिट शाट लगाने की अनुमति है तो एक गेंदबाज गेंद फेंकने के दौरान 30 डिग्री का रोटेशन क्यों नहीं कर सकता।

Source : Agency