नई दिल्ली
अगर आप आईओएस प्लैटफॉर्म पर रेगुलर वॉट्सऐप इस्तेमाल करते हैं तो आपको पता होगा कि बीट प्रोग्राम कुछ लिमिटेड यूजर्स तक ही सीमित है। वॉट्सऐप बीटा प्रोग्राम के जरिए यूजर्स स्टेबल बिल्ड पर आने से पहले ही नए फीचर्स को टेस्ट कर सकते हैं। ऐंड्रॉयड और विंडोज़ फोन पर जहां बीटा प्रोग्राम सभी यूजर्स के लिए उपलब्ध हैं, वहीं आईओएस प्लैटफॉर्म पर यह सीमित लोगों के लिए ही है। अब, WhatsApp वॉट्सऐप ने हर आईओएस यूजर के लिए अपनी बाटी प्रोग्राम ओपन कर दिया है और इच्छुक यूजर्स बीटा बिल्ड रिसीव करने के लिए साइन-अप कर सकते हैं। बीटा ऐप में यूजर्स दूसरे रेगुलर यूजर्स से पहले ही लेटेस्ट फीचर्स को टेस्ट कर सकते हैं।

वॉट्सऐप आईओएस यूजर्स को सलाह है कि हो सकता है कि उनका ऐप डेटा डिलीट हो जाए, लेकिन चैट हिस्ट्री डिलीट नहीं होगी। नए बीटा ऐप पर अपडेट करने से पहले यूजर्स को अपनी चैट हिस्ट्री का बैकअप ले लेना चाहिे। बीटा प्रोग्राम के लिए हर दो दिन पर अपडेट जारी होते हैं और इस प्रोग्राम का उद्देश्य बग्स और बीटा बिल्ड में यूजर्स एक्सपीरियंस का पता लगाना है। चूंकि बीटा प्रोग्राम लिमिटेड यूजर्स के लिए है, इसलिए वॉट्सऐप आईओएस बीटा के लिए ऐक्सेस पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर होगा।

आपको बता दें कि वॉट्सऐप ने हाल ही में अपने यूजर्स के लिए स्टिकर्स फीचर जारी किया है। यूजर्स अब अलग-अलग तरह के स्टिकर्स डाउनलोड कर उन्हें मेसेज में भेज सकते हैं। यूजर्स चाहें तो अपना खुद का स्टिकर्स पैक भी बना सकते हैं। लेटेस्ट अपडेट के साथ आया स्टिकर्स फीचर आइकन किसी चैट में इमोजी पर क्लिक करने पर जिफ आइकन के पास एक नए आइकन पर क्लिक करने से मिलता है।

Source : Agency