नयी दिल्ली
इंग्लैंड में होने वाले आईसीसी विश्वकप 2019 को ध्यान में रखते हुये अगले वर्ष के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) ट््वंटी 20 क्रिकेट टूर्नामेंट को उसके निर्धारित समय से पहले आयोजित किया जा सकता है। अगले संस्करण की तारीखों की घोषणा आम चुनाव 2019 की तारीखों को देखने के बाद ही की जायेगी। इंग्लैंड में 30 मई से होने वाले विश्वकप में भारतीय क्रिकेट टीम अपने अभियान की शुरूआत छह जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करेगी। भारतीय टीम प्रबंधन, कप्तान विराट कोहली, कोच रवि शास्त्री ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति(सीओए) से खिलाड़यिों को विश्वकप से पूर्व आराम दिये जाने की अपील की है। इसे देखते हुए आईपीएल 2019 को दो सप्ताह पहले कराया जा सकता है और यह 23 मार्च से शुरू हो सकता है। क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार गत माह हैदराबाद में हुई बैठक में विराट ने तेज़ गेंदबाज़ों खासकर जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार को संपूर्ण आईपीएल लीग से आराम देने की सलाह दी थी ताकि वे विश्वकप के लिये खुद को फिट रख सकें। आईपीएल में मुंबई के कप्तान और भारतीय खिलाड़ी रोहित शर्मा तथा आईपीएल प्रबंधन ने हालांकि इन सुझावों पर असंतोष जताया है जिसके बाद सीओए आईपीएल टूर्नामेंट को ही निर्धारित समय से पहले कराने पर विचार कर रहा है।

समझा जाता है कि आईपीएल टूर्नामेंट के अगले संस्करण को 23 मार्च से कराया जा सकता है। हालांकि आईपीएल के मुख्य संचालन अधिकारी हेमांग अमीन के अनुसार यदि भारतीय टीम प्रबंधन की अपील को लागू करने पर विचार होता है तो उससे पहले आईपीएल की सभी फ्रेंचाइजियों की भी इसमें सहमति होनी चाहिये। रिपोर्ट के अनुसार सीओए के सदस्यों विनोद राय और डायना इडुलजी ने भी इस बारे में विराट और शास्त्री से बात की है। इसके अलावा सीओए सदस्यों ने कप्तान और कोच से भारतीय टीम के विदेश में खराब प्रदर्शन के कारणों की भी चर्चा की है। उन्होंने टीम प्रबंधन और खिलाड़यिों की शिकायतों और कुछ मांगों को लेकर भी अपनी असंतुष्टि जताई है। दिल्ली और हैदराबाद में हुई इन बैठकों में रोहित शर्मा, अजिंक्या रहाणे के अलावा चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद ने भी हिस्सा लिया। बैठक में सीओए ने कोच शास्त्री के उस बयान पर भी आपत्ति जताई जिसमें उन्होंने मौजूदा भारतीय टीम को विदेश में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली 15 वर्षाें में सबसे बेहतरीन टीम बताया था। सीओए ने शास्त्री को इस तरह के बयानों से बचने की सलाह दी है। बीसीसीआई 2019 में भारत में ही आईपीएल कराने के विकल्पों को भी तलाश रही है, लेकिन देश में सात चरणों में होने वाले आम चुनावों की तारीखों की घोषणा के बाद ही इस पर अंतिम फैसला करेगी। बोर्ड ने आम चुनावों के दौरान सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुये प्लान बी के तहत दक्षिण अफ्रीका में आईपीएल कराने पर भी अपना होमवर्क शुरू कर दिया है। इस मामले में 18 दिसंबर को जयपुर में होने वाली खिलाड़यिों की नीलामी के बाद कोई अंतिम फैसला सामने आ सकता है।

Source : Agency