ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जिन घरों में अलग-अलग तरह के वास्तु दोष हो उन्हें अपने घर में छोटे-मोटे बदलाव कर लेने चाहिए। कहा जाता है कि कुछ खास उपाय करके अपनी आर्थिक समस्या से मुक्ति पा सकते हैं। इन उपायों को अपनाने से किसी पर भी माता लक्ष्मी की कृपा बनी रह सकती है। इसके साथ ही ये भी माना जाता है कि इन उपायों से घर-परिवार में सुख-समृद्धि आती है और आर्थिक समस्याएं भी दूर होती हैं।

हमेशा घर या फिर दुकान में धन रखने के लिए उत्तर और पूर्व दिशा को चुनें। कहा जाता है कि इस दिशा में धन रखने से आर्थिक तरक्की में कोई बाधा नहीं आती।

ध्यान रखें कि घर या फिर कार्यक्षेत्र में किसी भी जगह मकड़ी के जाले न हों। वास्तु के अनुसार, मकड़ी के जाल धन आने का रास्ता रोक देते हैं इसलिए इन दिनों लगातार सफाई करते रहें।

घर में उत्तर दिशा में दर्पण लगाएं। वास्तु के अनुसार इस दिशा में शीशा लगाने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार बढ़ता है, जिससे आय और धन में वृद्धि होती है।

घर से बाहर या फिर दक्षिण दिशा में दीपमालिका (दीपों की पक्तिं) जलाकर यम को अर्पित करें। ऐसा करने से वह प्रसन्न होते हैं , जिससे अकाल मृत्यु से बचाव होता है। साथ ही इन दोनों दिन अपने घर के बाहर रंगोली ज़रूर बनाएं, वास्तु की नज़र से एेसा करना बहुत शुभ माना जाता है। 

कहा जाता है अगर किसी के घर का कोई नल खराब हो तो उसे जल्द ही ठीक करवा लेना अच्छा रहता है। वास्तु के अनुसार, नल से पैसा टपकने का मतलब है कि आपका पैसा भी इसी तरह बह रहा है। इसलिए अपने घर के सभी नलों को सही करा लें।

जिस कमरे में तिज़ोरी या फिर अलमारी रखी हुई हो उस कमरे में क्रीम कलर की पुताई कराएं। यह रंग धन वृद्धि में सहायक माना जाता है।

वैसे तो शुभता के लिए घर के बाहर देवी लक्ष्मी के पैरों के चिह्न की तस्वीर लगाना बहुत शुभ माना जाता है। परंतु धनतेरस और दीपावली के दिन महालक्ष्मी के पैर का चिन्ह लगाना बहुत शुभ माना जाता है। इसी के चलते बहुत से लोग इस दिन अपने घर के दरवाज़े पर इन्हें लगा लेते हैं। लेकिन बहुत से एेसे लोग होंगे जिन्हें इसे लगाने का सही तरीका नहीं पता होगा तो आपको बता दें कि जब आप इन चिन्हों को लगा रहे हों तो इस तरह से लगाएं कि पैरों की दिशा अंदर की तरफ हो। मान्यता है कि इससे घर की सुख-समृद्धि बरकरार रहती है।

Source : Agency