चीनी विद्या फेंग्शुई में यूं तो अनेक गैजेट प्रचलित हैं, लेकिन गाय को विशिष्ट महत्व प्राप्त है। फेंग्शुई का भी मानना है कि गाय कामधेनु यानी कामना पूर्ति करने वाली और मानसिक शांति प्रदाता है। ऐसा माना जाता है कि अपने बछड़े को दूध पिला रही गाय के प्रतीक रूप को घर में स्थापित करने से न सिर्फ योग्य संतान की प्राप्ति होती है, बल्कि ऐसी संतान को कभी धन का अभाव नहीं होता। फेंग्शुई में गाय के महत्व को लगभग उसी प्रकार स्वीकारा गया है, जिस प्रकार हिंदू धर्म-संस्कृति में। हिंदू मान्यता के अनुसार गाय में 33 कोटि देवी-देवताओं का वास माना जाता है।
बाजार में यह गैजेट कई रूपों में मिलता है। इन्हीं में से एक रूप है- अपने बछड़े को स्तनपान करा रही गाय का। फेंग्शुई का मानना है कि इस प्रतीक रूप को घर में स्थापित करने से नि:संतानता व इनफर्टिलिटी जैसी समस्याओं से मुक्ति मिलती है और स्वस्थ व गुणवान संतान की प्राप्ति होती है।
    मुद्रा यानी सिक्कों के ढेर पर बैठी हुई गाय का प्रतीक रूप फेंग्शुई में खासा लोकप्रिय है। ऐसा प्रतीक रूप घर या दफ्तर कहीं भी स्थापित किया जा सकता है, जो कि परिवार व संस्थान के लिए सौभाग्य व समृद्धि आमंत्रित करता है।

मानसिक शांति में भी करती है मदद
आज का मनुष्य अति महत्वाकांक्षी है, जिनके पूरा न होने पर वह अशांत और व्याकुल हो उठता है। ऐसे व्यक्तियों को मानसिक शांति के लिए फेंग्शुई गाय को घर में स्थापित करना चाहिए। यह गैजेट न सिर्फ मानसिक शांति प्रदान करता है, बल्कि हमारी उचित इच्छाओं को पूरी करने में मददगार भी होता है।
    कठिन दौर व मुश्किलों से जूझने की शक्ति भी प्रदान करता है यह गैजेट। इसे घर में दक्षिण-पूर्व में स्थापित करना चाहिए। इसे तस्वीर के रूप में भी दीवार पर लगाया जा सकता है।

कॅरियर में सफलता के लिए ऑफिस टेबल पर रखें फेंग्शुई गाय
अगर आपको लगता है कि आपकी मेहनत का उचित फल नहीं मिल रहा है तो फेंग्शुई गाय को अपने ऑफिस टेबल पर स्थापित करें। यह आपको मेहनत का उचित प्रतिफल दिलाने में सहायक होगी। इन्हीं खूबियों की वजह से इसे उपहार में भी लिया-दिया जा सकता है।
    पढ़ाई में एकाग्रता व परीक्षा में सफलता पाने के लिए इसे विद्यार्थियों की स्टडी टेबल पर रखना चाहिए।

 

Source : Agency