कहा जाता है कि जब हम कोई अच्छे काम के लिए जाते हैं तो हमें रास्ते में कुछ न कुछ चीज़ें मिल जाती है। लेकिन हम उन्हें नज़र अंदाज़ कर देते हैं क्योंकि हम जानते नहीं है कि ये सब हमें क्या संकेत देते हैं तो आइए हम आपको बताते हैं कि आखिर इनका हमारे जीवन पर क्या असर पड़ता है।

रास्ते में कोई बुज़ुर्ग महिला या पुरुष मिले तो तुरंत पीछे हटकर उन्हें मार्ग दें। भूलकर भी इनका अपमान न करें। इसके विपरीत अगर संभव हो तो उनकी कुछ मदद भी कर दें। ऐसा करने पर उनके बिना कहे भी सूक्ष्म जगत से उनका आशीर्वाद आपको मिलेगा ही, जिससे आपके बिगड़ते काम भी सिद्ध हो जाएंगे।

अगर घर से बाहर जाते रास्ते में कोई रोगी या पीड़ित व्यक्ति सामने आ जाए तो सबसे पहले उसको आगे जाने दें, क्योंकि ऐसा व्यक्ति दया व स्नेह का पात्र होता है, संभव है रोगी उपचार के लिए जा रहा हो हमारे मार्ग देने से वो विकट परिस्थिति का सामना करने से बच भी सकता है। कहते हैं रोगियों की सेवा करने से बड़ा ही पुण्य का काम माना गया है। इसलिए ऐसा करने से आप ईश्वर की विशेष कृपा के अधिकारी बन जाते हैं, और जिससे जीवन से समस्त बाधाएं स्वतः ही दूर हो जाती हैं।

अगर जिस रास्ते से आप गुज़र रहे हों वह बुहत ही छोटा सकरा हो और उसी रास्ते से कोई भारी बोझ उठाए हुआ व्यक्ति सामने आ जाए तो पहले उसे ही जाने दें। कहा जाता हैं कि ऐसे लोगों की मदद करने से समाज में आपका सम्मान और भी बढ़ेगा।

रास्ते में किसी दूल्हे की बारात दिख जाए, यानि जिस व्यक्ति का विवाह होने जा रहा हो और वह आपके रास्ते में आ जाए तो पहले उसे ही आगे निकलने देना चाहिए। शास्त्रों के अनुसार दूल्हा बना व्यक्ति भगवान शिव का स्वरूप माना गया है। इसलिए शिव के सम्मान स्वरूप रास्ते में दिखे दूल्हे को नमस्कार करें और उसे ही आगे जाने दें। ऐसा करने पर शिव जी की कृपा से आपके सभी काम सफल होंगे।

Source : Agency