भोपाल

 मध्य प्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए मतदान हुआ। अब तक 74.61 प्रतिशत से ज्यादा मतदान होने का अनुमान है, लेकिन मतदान प्रतिशत का अंतिम और आधिकारिक आंकड़ा देर शाम ही मिल सकेगा। तीन सीटों- बैहर, लांजी, परसवाड़ा पर सुबह 7 बजे से 3 बजे तक वोटिंग हुई, वहीं शेष 227 सीटों के लिए आठ बजे से 5 बजे तक वोट डाले गए। इस बार 65 हजार से ज्यादा मतदान केंद्र बनाए गए थे। कुल 2907 प्रत्याशी इस बार चुनावी मैदान में उतरे। सीटों के लिहाज से मध्यप्रदेश को छह भागों में बांटा जा सकता है। ये हैं 1. मालवा-निमाड़: 15 जिले, 66 सीटें, 2 संभाग। 2. महाकोशल: 8 जिले, 38 विधानसभा, 1 संभाग। 3. ग्वालियर-चंबल: 8 जिले, 34 विधानसभा, 2 संभाग। 4. मध्य भारत: 8 जिले, 36 विधानसभा, 2 संभाग। 5. विंध्य: 7 जिले, 30 विधानसभा, 2 संभाग। 6. बुंदेलखंड: 6 जिले, 26 विधासनभा, 1 संभाग।


राजधानी में शांतीपूर्ण तरीके से मतदान कराने के लिए भोपाल पुलिस आज सुबह मुस्तैद है। करीब छह हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी मतदान केंद्र और उसके आसपास तैनात हैं। रात भर पुलिस बाहरी व्यक्तियों को होटल, लॉज, धर्मशाला और गार्डनों में ठहरने नहीं दिया जाएगा। दोनों पुलिस अधीक्षकों को सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई है, जिसकी मॉनीटरिंग डीआईजी धर्मेंद्र चौधरी पुलिस कंट्रोल रूम में बैठकर निगरानी करने में लगे हुए हैं। अभी तक किसी भी तरह के विवाद की खबर पुलिस को नहीं मिली है। पुलिस अफसरों ने थाना प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि मतदान के दौरान विवाद की स्थिति निर्मित करने वाले लोगों पर तत्काल कार्रवाई करें।

शहर की तंग गलियों को लेकर भी पुलिस ने 61 गाड़ियों का चयन किया है। जिसमें पचास डायल 100 के वाहन शामिल हैं, और छोटे करीब 11 वाहन मौजूद हैं। ये गाड़ियां चौबीस घंटे क्षेत्र में निगरानी रखने के साथ भ्रमण करती रहेंगी। इसके अलावा थाना प्रभारी और अन्य अफसर खुद अपने वाहनों से 

व्हाट्सएप पर निगरानी करने के लिए स्पेशल सेल बनाई है। किसी भी प्रकार की भ्रमक सूचना व अफवाह फैलाने वाले लोगों की शिकायत करने के लिए व्हाट्सएप मॉनीटरिंग सेल नंबर 7049106300 जारी किया है। 

Source : Agency