मुंबई
युवा बैडमिंटन स्टार भारत के लक्ष्य सेन ने थाईलैंड के कुनलावत वितिदसार्न को  एकतरफा फाइनल में रविवार को 21-15, 21-10 से हराकर टाटा ओपन अंतरराष्ट्रीय चैलेंज बैडमिंटन टूर्नामेंट का पुरुष एकल का खिताब जीत लिया। दुनिया के 91वें नंबर के खिलाड़ी लक्ष्य ने इस जीत से पिछले महीने विश्व जूनियर फाइनल में थाई खिलाड़ी से मिली हार का बदला चुका लिया। भारतीय खिलाड़ी ने मात्र 35 मिनट में फाइनल जीत लिया। महिला एकल फाइनल में क्वालीफायर अश्मिता चालिहा ने आठवीं वरीय रुषाली गुमादी को 30 मिनट में 21-16, 21-13 से हराकर अपना पहला अंतरराष्ट्रीय खिताब जीता।  

सुमित रेड्डी और आरआर अर्जुन की पुरुष युगल जोड़ी भी 35 मिनट चले खिताबी मुकाबले में जी फेई गोह और नूर इजुद्दीन की मलेशिया की शीर्ष वरीय जोड़ी को 21-10, 21-16 से हराकर खिताब जीतने में सफल रही। महिला युगल मेघना जक्कमपुडी और पूर्विशा एस राम की भारत की शीर्ष वरीय जोड़ी को एनजी विंग युंग और युंग एनगा टिंग की हांगकांग की दूसरी वरीय जोड़ी के खिलाफ 10-21, 11-21 से शिकस्त झेलनी पड़ी।

Source : Agency